MP : बेरोजगार युवक से PM स्वरोजगार योजना के तहत लोन दिलाने के नाम पर साढ़े तीन लाख रुपये की ठगी


भोपाल । कोलार इलाके में रहने वाले बेरोजगार युवक से जालसाज ने प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 60 लाख रुपये का ऋण दिलाने के नाम पर साढ़े तीन लाख रुपये ठग लिए। करीब एक साल बाद भी जब युवक को ऋण नहीं मिला और रुपये भी वापस नहीं हुए तो उसने पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक हितेश कुमार (29) डीके हनी होम्स नयापुरा कोलार रोड पर रहता है। वह स्वयं का व्यवसाय करना चाहता था। इसलिए प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत ऋण लेने का प्रयास कर रहा था। उसकी मुलाकात विकास सिंह से हुई थी। वह आइबीडी हालमार्क सिटी कोलार में रहता है और बैंक लोन दिलाने का काम करता है। हितेश ने उसे बताया कि सेमरी में उसकी जमीन है। वहां वह शादी गार्डन बनवाना चाहता है। इस पर विकास ने जिला उद्योग केंद्र से एक महीने के भीतर 60 लाख रुपये तक का लोन दिलाने का झांसा दिया। आरोपित ने कहा कि काम कराने के करीब चार लाख रुपये पहले खर्च करने होंगे। पिछले साल जुलाई में विकास ने प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनवाने और जमीन डायवर्सन के नाम पर हितेश से पचास हजार रुपये लिए।

बाद में उसने अधिकारियों को पैसे देने के नाम पर दो लाख रुपये नकद और एक लाख रुपए का चेक और लिया। करीब छह महीने तक विकास उसे आश्वासन देता रहा और बाद में फोन उठाना बंद कर दिया। हितेश ने उसके घर जाकर पैसों की मांग की तो बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण उसका काम नहीं हो पाया है। बाद में उसने रुपये देने से साफ इन्कार कर दिया।

Powered by Blogger.