MP : इस नवरात्र और दीपावली पर भक्तों को मां शारदा के ऑनलाइन मिलेंगे दर्शन : नहीं खुलेंगे पट


सतना. इस बार शारदीय नवरात्र में मैहर देवी के पट आम दर्शनार्थियों के लिए बंद रहेंगे। यह निर्णय कलेक्टर अजय कटेसरिया की मौजूदगी में हुई मां शारदा प्रबंध समिति की बैठक में लिया गया है। ऐसा कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर एहतियातन लिया गया है। हालांकि कलेक्टर ने कहा है कि मंदिर प्रबंधन के इस फैसले पर शासन की राय ली जाएगी। अंतिम फैसला प्रदेश सरकार का होगा।

बता दें कि शारदीय नवरात्र 16 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। नवरात्र में दूर-दराज के देवी भक्त माता रानी के दर्शन-पूजन के लिए यहां आते हैं। पूरे नवरात्र भर यहां मेला लगा रहता है। भोर में मंगला आरती से पहले ही भक्तों की लंबी कतार लग जाती है और पट खुलते ही दर्शन-पूजन का जो सिलसिला शुरू होता है वह देर रात तक जारी रहता है। यह क्रम नवरात्र के नौ दिनों तक अनवरत जारी रहता है।

मां शारदा मंदिर में शारदीय नवरात्र के 9 दिनों के दौरान देश के कोने-कोने से लगभग सवा 10 लाख श्रद्धालु मैहर पहुंचते हैं। हर दिन तकरीबन सवा लाख लोगों के मैहर पहुंचने का पूर्वानुमान रहता है। कोरोना काल में अभी भी हर दिन 8 से 10 हजार श्रद्धालु मां शारदा के दरबार में मत्था टेकने पहुंच रहे हैं। समुद्र तल से साढ़े 500 मीटर की ऊंचाई पर त्रिकूट पर्वत के शीर्ष पर स्थित मां शारदा मंदिर पर पहुंचने के लिए यूं तो रोप-वे है मगर संक्रमण की आशंका के चलते इसे बंद कर दिया गया है। श्रद्धालु अभी या तो 1052 सीढिय़ां चढ़ते हैं या फिर उन्हें प्रबंध समिति की वैन से शुल्क देकर ढाई किलोमीटर की लंबी घुमावदार दूरी तय करनी पड़ती है।

ऐेसे में जब कोरोना का संक्रमण लगातार तेज होता जा रहा है, मंदिर प्रबंधन ने यह निर्णय लिया कि आम देवी भक्तों की अच्छी सेहत के लिए बेहतर होगा कि मां के दर्शन ऑनलाइन ही किए जाएं। इतना ही नहीं मंदिर प्रबंधन 14 से 16 नवंबर तक दीपोत्सव के 3 दिन भी शारदा मंदिर श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोलने के पक्ष में है।

इस मामले में मैहर के एसडीएम सुरेश अग्रवाल ने बताया कि शारदीय नवरात्र के दौरान श्रद्धालुओं को दर्शन एवं दान के लिए प्रबंध समिति ने ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराई है। इसके लिए श्रद्धालु मां शारदा लाइव डॉट कॉम पर क्लिक कर दर्शन के साथ दान भी कर सकते हैं। उन्होंने वैश्विक महामारी से बचाव के लिए बाहर से आने वाले श्रद्धालु भक्तों से आग्रह किया कि वे नवरात्र के दौरान मैहर की यात्रा न करें।

बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों को रोकने का होगा ये इंतजाम

शारदीय नवरात्र के दौरान बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों को नगर प्रवेश से रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। इसके तहत मैहर और कटनी बायपास के अलावा उस्ताद अलाउद्दीन तिराहे पर अलग-अलग तीन बैरियर लगाए जाएंगे। अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनाते किए जाएंगे।

सर्किट हाउस में आयोजित इस बैठक में मां शारदा मंदिर के प्रधान पुजारी पवन पांडेय, विधायक नारायण त्रिपाठी, एसडीएम सुरेश अग्रवाल, पीडब्ल्यूडी के ईई एचएल वर्मा , एसडीओ फारेस्ट श्रीकांत शर्मा और अरकंडी पुलिस चौकी के प्रभारी एसएन मिश्रा भी उपस्थित रहे।

कोट

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते शारदीय नवरात्र में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमडऩे से हालात बिगड़ सकते हैं। स्थानीय प्रशासन से नवरात्र के दिनों में अतिरिक्त एहतियात बरतने का आग्रह किया गया है।"- पवन पांडेय,प्रधान पुजारी मां शारदा मंदिर मैहर

प्रबंध समिति ने आमराय से शारदेय नवरात्र के 9 दिन मां शारदा मंदिर को श्रद्धालु के लिए बंद रखने का निर्णय लिया है। मार्गदर्शन के लिए समिति का प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। अंतिम निर्णय शासन स्तर पर लिया जाएगा।

अजय कटेसरिया,कलेक्टर
Powered by Blogger.