MP : उपचुनाव की सियासी दौड़ जारी, CM शिवराज ने कवर की 80 फीसदी सीटों तो सिंधिया ने कवर कीं 23 सीटें


भोपाल. उपचुनाव की सियासी डगर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान सरपट दौड़ रहे हैं। उन्होंने अब तक 80 फीसदी सीटें नाप दी हैं। बाकी दिग्गज नेता पीछे हैं। शिवराज के बाद दौरों में ज्योतिरादित्य सिंधिया और नरेंद्र सिंह तोमर भी पीछे-पीछे हैं, लेकिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ काफी पिछड़ गए हैं। हालांकि उनका पूरा फोकस मैनेजमेंट पर है।

शिवराज: सुबह बैठक फिर दिन में दौरे
सीएम शिवराज के सुबह-शाम बैठक और दिन में दौरे के कई शेड्यूल रहे हैं। उन्होंने अगस्त में ही ग्वालियर-चंबल के दौरे शुरू कर दिए थे। अब तक वे वहां की लगभग सभी सीटों पर पहुंच चुके हैं। वहीं सितंबर की ही बात करें तो शुरूआत में ही बाढ़ से बिगड़े हालात के बीच तीन दिन में सीएम ने देवास, हरदा और सीहोर में दौरे किए। फिर अनूपपुर पहुंचे। 10 से 14 सितंबर के बीच के दौरों में करीब 16 सीटों पर पहुंच गए। छतरपुर, रायसेन, भिंड, ग्वालियर, मुरैना और शिवपुरी व आस-पास का दौरा किया। इसके बाद खंडवा-इंदौर, बुरहानपुर, मंदसौर, उज्जैन और आगर का दौरा किया। 24 से 26 सितंबर के बीच 9 सीटें और कवर की।

कमलनाथ: पूरा फोकस प्रबंधन पर 
कमलनाथ अगस्त में चुनाव व बूथ प्रबंधन पर फोकस करते रहे। सितंबर में वे रायसेन, राजगढ़, ग्वालियर, इंदौर और आगर गए। इसमें ग्वालियर में सिंधिया के गढ़ में कमलनाथ ने दौरा कर सेंधमारी का प्रयास किया। वहीं वे इंदौर-आगर भी पहुंचे। रायसेन का दौरा 24 सितंबर को बारिश के कारण रद्द हो गया। कमलनाथ अब तक करीब एक दर्जन सीटों पर पहुंचे हैं, लेकिन हर सीट के लिए पूर्व मंत्री सहित अन्य नेताओं को जिम्मेदारी देकर जरूर रवाना कर दिया।

इधर, सिंधिया-तोमर-शर्मा भी पीछे-पीछे
राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अब तक ग्वालियर-चंबल की लगभग सभी सीटों पर पहुंच चुके हैं। वे 3 सितंबर अब तक 23 सीटें कवर कर चुके हैं। वहीं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी सिंधिया के साथ ग्वालियर-चंबल की सीटों पर दौरा कर चुके हैं। दोनों ही नेता अगस्त में ही सक्रिय हो गए थे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भी इस दौरान शिवराज के साथ ग्वालियर-चंबल में दौरे कर चुके हैं। शर्मा ने अधिकतर संगठन के चुनाव प्रबंधन संबंधित अन्य कामों को संभाल रखा है।

ऐसी है वर्किंग स्टाइल

शिवराज
उम्र- 61 साल, बेहद सक्रिय, लगातार दौरे व बैठकें कर रहे हैं। जनता को सहज उपलब्ध। लोकप्रिय चेहरा।
कमलनाथ
उम्र- 73 साल, दौरों पर कम यकीन। बैठक-प्रबंधन-मानीटरिंग पर फोकस। मुलाकातों में सिलेक्टिव।
ज्योतिरादित्य सिंधिया
उम्र-49 साल, दिल्ली में डेरा। ग्वालियर-चंबल में ताबड़तोड़ दौरे कर चुके हैं।
नरेन्द्र सिंह तोमर
उम्र- 63 साल, दिल्ली में डेरा। ग्वालियर में लगातार आमद। गंभीर नेता। मोदी की कोर टीम में।
Powered by Blogger.