MP : बसों के संचालन में फिर से लग सकता है ब्रेक, यात्री बसों का 20 फीसदी किराया बढ़ाने की मांग : हड़ताल की चेतावनी

            

भोपाल. कोरोना काल के बाद शुरू हुए बसों के संचालन में एक बार फिर से ब्रेक लग सकता है। दरअसल, मध्यप्रदेश के बस संचालकों ने किराए में वृद्धि की मांग की है। अगर किराया नहीं बढ़ाया जाता है बस संचालकों द्वारा 15 अक्टूबर के बाद हड़ताल करने की बात कही है।

सीएम को लिखा लेटर

मध्य प्रदेश प्राइवेट मोटर मालिक एसोसिएशन ने सरकार को यात्री बसों का किराया बढ़ाने का अल्टीमेटम दिया है। अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने परिवहन विभाग और सीएम कार्यालय को पत्र लिखकर कहा है कि सरकार ने ट्रांसपोर्ट टैक्स माफ के प्रस्ताव मंजूर करने के साथ किराया समिति द्वारा प्रस्तावित किराया वृद्धि पर जल्द फैसला लेने का ऐलान किया था। एसोसिएशन ने कहा भोपाल सहित मध्य प्रदेश में करीब 30 हजार से ज्यादा यात्री बसों का संचालन हो रहा है।

लॉकडाउन के बाद यात्रियों की संख्या में गिरावट

एसोसिएशन का कहना है कि लॉकडाउन के बाद यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई है। जिससे मोटर मालिक को डीजल, ड्राइवर, कंडक्टर का वेतन और बीमा के लिए भी पैसे नहीं मिल पा रहे हैं। एसोसिएशन ने कहा कि सरकार को कार्रवाई के लिए 15 अक्टूबर तक का समय दिया गया है। अगर इस दौरान कोई निर्णय नहीं लिया जाता है तो प्रदेश में यात्री बसों का संचालन बंद करने कर दिया जाएगा।

इंदौर जाने के लिए सबसे ज्यादा यात्री

एसोसिएशन के अनुसार, लॉकडाउन खुलने के बाद आईएसबीटी और नादरा से चलने वाली बसों में यात्रियों की ज्यादा संख्या इंदौर के लिए होती है। चार्टर्ड और वॉल्वो बसों का संचालन पर पांच सौ रुपए के टिकट पर किया जा रहा है।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.