MP : अब गरीबों को मात्र 10 रुपये में मिलेगा भरपेट भोजन : इन चार जगहों पर खुलने जा रही दीनदयाल रसोई


जबलपुर। गरीबों को मात्र 10 रुपये में भरपेट भोजन मिलेगा। सेठ गोकुलदास धर्मशाला में संचालित की जा रही दीनदयाल रसोई की तर्ज पर शहर के चार स्थानों पर दीनदयाल रसोई केंद्र खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

शासन से मिले दिशा-निर्देश के बाद जिला प्रशासन, नगर निगम ने अनुश्रवण समिति की बैठक कर ली है। अब रसोई संचालित करने के लिए समाजिक व धर्मार्थ संस्थाओं की तलाश के लिए निविदा निकालने की कवायद की जा रही है। दावा किया जा रहा है कि सभी प्रक्रिया पूरी करते हुए माह के अंत तक रसोई शुरू कर दी जाएगी।

प्रदेश भर में खोले गए जा रहे 44 नए रसोई केंद्र

विदित हो कि दीनदयाल अंत्योदय योजना के जबलपुर सहित प्रदेश भर में 44 नए रसोई केंद्र खोले जा रहे हैं। इसमें जबलपुर में चार रसोई खोलने की योजना है। नगर निगम ने चार अलग-अलग क्षेत्रों में रसोई के लिए स्थल का चयन कर प्रस्ताव शासन को भेज दिया था।

यहां खुलेगी रसोई

नगर निगम ने तिलवारा स्थित आश्रय स्थल, अधारताल, रांझी और नगर निगम मुख्यालय के पास से स्थाई रसोई के लिए जगह तलाश ली है।

अब इन स्थलों में जरूरत के हिसाब से भवन तैयार कर रसोई चलाने वाली संस्था को उपलब्ध कराया जाएगा। शासन स्तर पर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा।

सामाजिक संस्थाएं करेंगी संचालित

योजना के तहत रसोई के संचालन के लिए सामाजिक व धर्मार्थ संस्थाओं की तलाश की जा रही है।

जो संस्थाएं सेवा भावना के तहत आगे आएंगी उन्हें रसोई संचालन की जिम्मेदारी दी जाएगी।

नगर निगम उसकी मानीटरिंग करेगा और खाद्यान्न उपलब्ध कराएगा।

रसोई से गरीब वर्ग के लोगों को 10 रुपये में खाना उपलब्ध कराया जाएगा।

अभी दीनयाल रसोई से पांच रुपये में दिया जा रहा खाना

वर्तमान में सेठ गोकुलदास धर्मशाला में दीनदयाल रसोई नगर निगम द्वारा संचालित की जा रही है।

एक समाजिक संस्था को रसोई संचालन की जिम्मेदारी दी गई है।

यहां गरीबों को पांच रुपये में भरपेट भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।

इनका कहना है

दीनदयाल रसोई शुरू करने के लिए चार स्थानों का चयन कर लिया गया है। सामाजिक संस्थाओं की सहभागिता के लिए निविदा निकाली जा रही है। माह के अंत तक रसोई शुरू करने के प्रयास किए जा रहे हैं।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

Powered by Blogger.