पकड़ा गया साइको चोर : महिलाओं के अंडर गारमेंट्स चुराकर करता था गंदी हरकत

भोपाल। घर मालिक की सगजता से पुलिस को एक चोर मिला है, जिसे अभिरक्षा में लिया गया है। चोर नाबालिग है जो आधी रात को लोगों के घर से महिलाओं के अंतर्वस्त्र ही चोरी करता था। शाहजहांनाबाद थाना पुलिस के ईदगाह हिल्स में रहने वाले एक व्यापारी के घर से अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में डोरी पर सूखने के लिए डाले गए महिलाओं के कपड़े चोरी हो रहे थे। उन्होंने कपड़े कमरों में अंदर सुखाना शुरू कर दिया। इसके बाद भी सुबह अंतर्वस्त्र अपनी जगह पर नहीं मिलते थे। एक-दो कपड़े भी कम मिलते थे। संदेह होने पर उन्होंने घर में सीसीटीवी कैमरे लगवा दिए। फिर भी चोरी होने पर 31 अगस्त की रात को व्यापारी ने सीसीटीवी के फुटेज चेक किए।

देखा कि रात 11:30 बजे एक अज्ञात किशोर महिलाओं के कपड़ों के साथ छेड़छाड़ कर रहा है। इस दौरान किशोर ने अपने भी कपड़े उतार लिए थे। यह देखकर उन्होंने सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास तलाश की, लेकिन किशोर का कुछ पता नहीं चल सका। पुलिस ने रात में मकान के आसपास निगरानी रखना शुरू कर दी। एक सितंबर को तड़के करीब तीन बजे वही किशोर फिर मकान के अंदर घुस गया तो पुलिस ने उसे अभिरक्षा में ले लिया। व्यापारी की शिकायत पर चोरी का केस दर्ज किया गया है।

मानसिक बीमारी है

हमीदिया अस्पताल के चिकित्सा मनोविज्ञानी डा.राहुल शर्मा बताते हैं कि यह एक मनोविकार है। इसे फैटिसिज्म कहा जाता है। बचपन की यौन कुंठाएं, पालन पोषण के अनुचित तरीके इसके लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार होते हैं। साइकोथेरेपी से इस बीमारी को ठीक किया जा सकता है।

फैटिसिज्म नामक मानसिक बीमारी से पीड़ित लोग इस तरह की हरकत करते हैं। इससे पीड़ित करीब 12 फीसदी लोग महिलाओं के अंडर गारमेंट चुराते हैं। ऐसा करने से उन्हें आनंद मिलता है। यह लोग अपराध में भी लिप्त रहते हैं। उनकी काउंसिलिंग की जानी चाहिए। 

डॉ. सत्यकांत त्रिवेदी, मनोचिकित्सक, भोपाल


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

Powered by Blogger.