MP : 12वीं में बायो संकाय में 96 प्रतिशत लाने वाली सागर की साक्षी राजोरिया इंदौर के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती, लीवर ट्रांसप्लांट व मदद की जरूरत


इंदौर। 12वीं में बायो संकाय में 96 प्रतिशत लाने वाली सागर की साक्षी पिछले तीन से चार महीने से बीमार है। उसे शुरुआत में जोड़ो में दर्द हो रहा था। इसके बाद डॉक्टरों दिखाया तो उन्होंने बताया कि इसे सिस्टेमेटिक लूपूस अर्थेमाटोसस एसएलई की बीमारी है। इसके कारण उसके लीवर ने काम करना बंद कर दिया है। 18 वर्षीय साक्षी राजोरिया इंदौर के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती है और अब जीवन से संघर्ष कर रही है। उन्हें डॉक्टरों ने उसका लीवर ट्रांसप्लांट ही विकल्प बताया है। साक्षी के रिश्तेदार रिषी उपाध्याय के मुताबिक साक्षी की मां साधना राजौरिया सरकारी स्कूल की शिक्षिका है और उन्हें आंखों से दिखाई नहीं देता है।

MP में किसके हाथ रहेगी सत्ता / भाजपा विधायकों को ले उडऩे की तैयारी में कांग्रेस : सियासी समीकरण तय करने में जुटे दोनों दल 

परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। साक्षी के पिता सुधीर राजोरिया का पूर्व में बिजनेस था जिसमें उन्हें लॉस हुआ को कारोबार ठप हो गया। लीवर ट्रांसप्लांट के लिए साक्षी बी पॉजिटिव ब्लड ग्रुप के लीवर डोनर की आवश्यकता है। इसके इलाज के लिए 25 लाख रुपये का खर्च आ रहा है। इंदौर में पिछले एक हफ्ते से मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती है और 1 लाख रुपये इलाज में खर्च हो चुके है। रिषि के मुताबिक लीवर ट्रांसप्लांट के लिए डोनर के अलावा डॉक्टरों ने करीब 25 लाख रुपये का खर्च बताया है। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर हमने साक्षी को परेशानी को शनिवार को शेयर किया था। इसके बाद से अभी तक सोशल मीडिया के माध्यम जुड़े लोगों से अभी तक एक लाख रुपये की मदद मिल चुकी है। हम मुख्यमंत्री राहत कोष से मदद पाने का प्रयास कर रहे है।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे

Powered by Blogger.