TWITTER ने विधायक शकुंतला साहू का हटाया ब्लू टिक : गलती पूछ- वापस मांगा BLUE TICK



रायपुर। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार आने के बाद एक दर्जन से ज्यादा विधायकों की ट्विटर पर सक्रियता बढ़ी है। इन विधायकों में अब तक सिर्फ कसडोल विधायक शकुंतला साहू ने ब्लू टिक पाने में सफलता पाई थी, लेकिन ट्विटर ने एक सप्ताह बाद ही उसे हटा दिया। शकुंलता के ट्विटर से ब्लू टिक हटने के बाद सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैल गई कि उन्होंने कोरोना काल में बिना मास्क लगाए फोटो पोस्ट की थी, जिससे ट्विटर ने उनके ब्लू टिक को हटा दिया। जब ब्लू टिक हटाया गया तब शकुंतला ने बकायदा ट्विटर इंडिया को पत्र लिखा, जिसमें यह पूछा कि आखिर उनकी गलती क्या है?

शकुंतला ने ट्विटर से पूछा था कि आखिर उन्होंने किसी प्रकार के नियम का उल्लंघन नहीं किया, तब उनके अकाउंट का ब्लू टिक क्यों हटा दिया गया। उन्होंने दोबारा ब्लू टिक लगाने की मांग भी की थी। इसके एक दिन बाद ट्विटर ने शकुंतला को जवाब दिया। शकुंतला ने शनिवार को पोस्ट करके बताया कि उनके ट्विटर अकाउंट का यूजर नेम बदलने के कारण वेरिफाई बैज हटाया गया है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया में मेरे खिलाफ जो विभिन्न प्रकार की भ्रामक खबर चल रही है, वह निराधार है। वह पूर्ण रूप से गलत है, उसे ध्यान नहीं दीजिए। उनका अकाउंट जल्द ही वेरिफाई हो जाएगा।


दरअसल, प्रदेश में पहली बार विधायक चुने गए यूडी मिंज, विनय जायसवाल, आशीष छाबड़ा सहित कई विधायक ट्वीटर पर सक्रिय हुए। फालोअर की संख्या कम होने के कारण इन लोगों के अकाउंट को अब तब वेरिफाई नहीं किया गया है। जबकि शकुंतला न सिर्फ रोजाना आठ से दस ट्वीट कर रही हैं, बल्कि उनके फालोअर की संख्या भी 21 हजार से ज्यादा पहुंच गई है। विधानसभा चुनाव में शकुंतला ने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल को शिकस्त दी थी।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

Powered by Blogger.