ऑनलाइन ठगी : फर्जी वेबसाइट पर लुभावने विज्ञापन के माध्यम से लोगों को बना रहे निशाना | MP NEWS

इंदौर। लॉकडाउन के बाद से ऑनलाइन खरीदी का चलन बढ़ने के साथ ही बदमाशों को भी ठगी करने का नया तरीका मिल गया है। ऑनलाइन ऑर्डर कर सस्ते दाम पर किराना, आटा, दाल व चावल खरीदने के लिए लोग नई-नई वेबसाइट सर्च करते हैं। इनमें कई फर्जी वेबसाइट भारी डिस्काउंट और कम दामों में सामग्री घर बैठे उपलब्ध कराने का दावा करती हैं। नंदानगर गली नंबर तीन में रहने वाले तेज प्रताप अखरिया ने बताया कि उनकी पत्नी ने एक महीने पहले वेबसाइट पर करीब 15 हजार रुपये की सामग्री ऑर्डर की थी। ऑनलाइन रुपये देने पर 15 प्रतिशत अतिरिक्त छूट थी, जबकि पहले से ही 40 प्रतिशत डिस्काउंट कंपनी दे रही थी।

खाते की पूरी जानकारी वेबसाइट पर अपलोड करने के बाद रुपये कट गए, लेकिन दो दिन मे सामान भेजने का वादा करने के बाद भी जब 10 दिन तक सामग्री घर नहीं आई तो वेबसाइट पर दिए ग्राहक सेवा प्रतिनिधि को फोन किया। फोन करने पर उसने फिर से खाते की जानकारी मांगी, जैसे ही खाते की जानकारी दी तो मोबाइल पर एक लिंक आई। लिंक पर क्लिक करते ही एसबीआइ के खाते से करीब एक लाख रुपये कट गए। प्रताप ने क्राइम ब्रांच व साइबर सेल में शिकायत की है।

सस्ते दाम पर ऑइल बुलवाया

ओल्ड पलासिया में रहने वाले दीपक चौकड़े ने बताया कि वेबसाइट पर सोयाबीन ऑइल की कीमत ऑनलाइन पेमेंट करने पर 35 प्रतिशत की छूट मिल रही थी जबकि बाजार में तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। उन्होंने 11 सितंबर को पांच-पांच लीटर की 300 कैन (पांच लीटर पैकिंग में) बुक किए थे, जिसकी कीमत एक लाख 45 हजार रुपये थी। सभी जानकारी लेने के बाद ऑनलाइन पेमेंट किया था, उन्होंने बताया कि मुंबई से माल भेजा है, दो दिन में आ जाएगा। वेबसाइट के दीपेश नामक व्यक्ति ने बात की और कहा कि 13 सितंबर को माल इंदौर पहुंच जाएगा।

शाम तक माल नहीं आया तो फोन किया तो बताया कि रास्ते में अटक गया है, सुबह तक आ जाएगा। अगले दिन भी जब सुबह तक माल नहीं आया तो फिर से फोन किया लेकिन नंबर बंद बताया। अन्य नंबर भी बंद बताए। वहीं वेबसाइट ने भी ब्लॉक कर दिया। डीआइजी कार्यालय के शिकायत शाखा में आवेदन दिया था, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। मामले मे क्राइम ब्रांच एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर ने जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

Powered by Blogger.