ALERT : नहीं थम रहा इंदौर में कोरोना : नवंबर में पहली बार मिले 255 नए मरीज : तीन की मौत

इंदौर। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या सरकारी सूची में भले ही कम नजर आ रही हो, लेकिन हालात फिर चिंताजनक बन रहे हैं। हालत ये है कि शहर के बड़े निजी अस्पतालों में आईसीयू में बेड नहीं मिल रहे और मरीजों को वेटिंग लिस्ट में रखा जा रहा है। सरकारी अस्पतालों में बेड जरूर खाली हैं, लेकिन जिस उच्च व मध्यम वर्ग में अब कोरोना ज्यादा फैल रहा, वह इनके बजाय निजी अस्पतालों का रुख कर रहा है। दिवाली के पहले 52 तक पहुंची मरीजों की संख्या अब फिर से 250 के करीब पहुंचने लगी है। इतना ही नहीं मौत के आंकड़े भी बढ़ने लगे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ससुर का देर शाम भोपाल के निजी अस्पताल में निधन : अंतिम संस्कार महाराष्ट्र के गोंदिया में

थोड़े दिन की राहत के बाद बुधवार देर रात फिर से एक बार कोरोना विस्फोट हुआ। 255 नए पाजीटिव मरीज सामने आए हैं। यह आंकड़ा नवंबर महीने का सबसे ज्यादा है। इससे पहले 19 अक्टूबर को 226 और 22 अक्टूबर को 251 पाजीटिव मिले थे। वहीं, 3 और मौतें भी हुई हैं। नंवबर के 18 दिनों में जहां 2096 नए पाजीटिव मरीज सामने आए हैं। वहीं 40 मरीजों की जान भी गई है। अब तक कुल 722 जानें जा चुकी हैं। वहीं 36310 संक्रमित मरीजों में से 33425 ठीक होकर घर लौट चुके हैं। बुधवार रात 3792 टेस्ट में से 3496 निगेटिव पाए गए। अब तक 1 लाख 48 हजार 208 रैपिड एंटीजन सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं 4 लाख 53 हजार 711 टेस्ट किए जा चुके हैं। एक्टिव मरीजों की बात करें तो जिले में अब 2163 संक्रमित मरीज हो गए हैं।

142 इलाकों से मिले नए मरीज
देर रात 142 क्षेत्रों से नए मरीज समाने आए। सबसे ज्यादा संक्रमित सुदामा नगर राधा कुंज रहे। यहां पर 10 लोगों में कोरोना मिला। इसके अलावा स्कीम नंबर -71, द्रविड़ नगर में 8, पलसीकर कॉलोनी में 8, सुखलिया वीणा नगर में 7, स्कीम नंबर- 94 में 6, एमआईजी रोड में 5, आशीष नगर में 5, भक्त प्रहलाद नगर छतरी बाग में 4, कंचन बाग में 4, अंजनी नगर में 4, गुमाश्ता नगर में 3, खातीवाला टैंक में 3, छोटी ग्वालटोली में 3, मानिक बाग रोड में 3, स्कीम नंबर - 78 में 3, पिगडंबर राउ में 3, साकेत नगर में 3, शिवधाम नगर में 3, रामचंद्र नगर में 3, विनय नगर में 3, टंगा खाना महू में 3, सांई कृपा कॉलोनी में 3 और केशव नगर में 3 संक्रमित मिले हैं।

दिसंबर में और बढ़ सकते हैं मरीज
डॉक्टर्स का कहना है कि त्योहारों के कारण बाजारों में उमड़ी भीड़, एक-दूसरे से मिलने-जुलने की अधिकता, खान-पान में कोताही और सबसे महत्वपूर्ण ठंड के कारण मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। शुरुआत में तेज ठंड और फिर मौसम बदलने व गर्मी बढ़ने से भी लोग बीमार पड़ रहे और कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। इसका असर अस्पतालों पर बढ़ते दबाव के रूप में दिख रहा है। आशंका है कि दिसंबर में मरीजों की संख्या और बढ़ेगी।

ऐसी है अस्पतालों की स्थिति
CHL अस्पताल में परिजन मरीज को लेकर पहुंचे तो स्टाफ ने जवाब दिया कि ICU खाली नहीं हैं। मरीज को तुरंत ऑक्सीजन सपोर्ट की जरुरत थी। 12 मरीजों की वेटिंग बताते हुए उसे दूसरे अस्पताल में भेजा गया। बॉम्बे हॉस्पिटल में ICU के सभी 15 बेड फुल हैं। मेडिकेयर अस्पताल में सिर्फ एक बेड का ICU है, जहां किसी अन्य मरीज को नहीं रख सकते। शेल्बी हॉस्पिटल में 50 वर्षीय मरीज भर्ती होने के लिए इंतजार करते रहे, लेकिन बताया गया कि चार की वेटिंग चल रही है। चोइथराम अस्पताल में 30 बेड के ICU में फिलहाल 19 मरीज हैं, पर ज्यादा मरीज भर्ती नहीं कर पा रहे। इसका कारण स्टाफ के दिवाली की छुट्टी पर होना बताया जा रहा।

सरकारी में 175 ICU बेड उपलब्ध
स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के मुताबिक, मरीज बढ़ रहे हैं। यह भी सही है कि कुछ अस्पतालों में जगह नहीं है, पर सरकारी एमआर टीबी में 4, एमटीएच में 71, न्यू चेस्ट वार्ड में 15, सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल में 80 आईसीयू बेड खाली हैं। मरीजों को यहां भर्ती किया जा सकता है।

नवंबर में लगभग 2 हजार मरीज, जांचें कम हुईं
नवंबर में कुल 42948 लोगों की जांच हुई, जिसमें 1936 मरीज सामने आए। त्योहार की छुट्‌टी के कारण बीच में कई दिन ऐसे आए, जब 600-700 सैम्पल ही टेस्ट हुए और मरीज भी 80-90 के बीच रहे। 15 नवंबर के बाद मरीज बढ़ना शुरू हुए हैं। वहीं, सितंबर में 85 742 जांचें हुईं, जिसमें 11 225 पॉजिटिव आए। अक्टूबर की बात करें तो 9 644 संक्रमित 1 लाख 4 हजार 789 जांचों के बाद मिले।

हमें भी सूचनाएं हैं कि भर्ती नहीं कर रहे: डॉ. जडिय़ा
ऐसी सूचनाएं मिल रही हैं कि मरीजों को निजी अस्पतालों में भर्ती करने से इनकार किया जा रहा है, जबकि हमारी सूची में बेड खाली दिख रहे हैं, इसलिए सभी अस्पतालों में फोन कर वास्तविक स्थिति का पता लगा रहे हैं। सरकारी अस्पतालों में बेड खाली हैं, लेकिन देखने में आ रहा है कि लोग स्वेच्छा से निजी लैब में जांच करवा रहे हैं और पॉजिटिव आने पर निजी अस्पतालों में जा रहे हैं।

इस महीने ऐसे घटे और बढ़े कोरोना मरीज

तारीखसंक्रमितमौत
1 नवंबर7600
2 नवंबर6100
3 नवंबर5201
4 नवंबर6502
5 नवंबर7402
6 नवंबर8103
7 नवंबर8904
8 नवंबर10803
9 नवंबर11702
10 नवंबर12804
11 नवंबर15604
12 नवंबर19503
13 नवंबर19702
14 नवंबर7602
15 नवंबर8900
16 नवंबर17802
17 नवंबर19403
18 नवंबर25503
Powered by Blogger.