REWA : सहकारी समिति प्रबंधक राजेश त्रिपाठी के घर 16 सदस्यीय EOW टीम की छापामार कार्यवाही : तीन लाख के आभूषण एवं लग्जरी कार बरामद

रीवा। आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिलने के बाद रीवा की ईओडब्ल्यू (आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ)टीम ने सतना जिले के अमरपाटन तहसील के ताला सेवा सहकारी समिति प्रबंधक राजेश त्रिपाठी के रीवा स्थित खैरी गांव में घर में छापामार कार्रवाई कर करोड़ों की संपत्ति का पर्दाफाश किया है।

ईओडब्ल्यू के निरीक्षक प्रवीण चतुर्वेदी ने बताया कि हमें शिकायत मिली थी कि राजेश त्रिपाठी आय से अधिक संपत्ति भ्रष्टाचार कर अर्जित की है। इस शिकायत की जांच के बाद कार्रवाई की गई है। कार्रवाई में 16 सदस्यीय टीम शामिल है। ईओडब्ल्यू की टीम जब सुबह पहुंची उस समय घर के सदस्यों की नींद भी टूटी नहीं थी।

देखे वीडियो




अब तक मिला ये

अब तक चली कार्रवाई के दौरान टीम ने खैरी स्थित मकान से पांच प्लाट की रजिस्ट्री, दो मकान, एक लग्जरी कार, दो बाइक, साढ़े तीन लाख रुपये कीमत के आभूषण, चार बीमा पॉलिसी, तीन बैंकों में खाता व ढाई लाख रुपये कैश बरामद किया है। बुधवार को भी कार्रवाई चलेगी।

1996 की नौकरी

बता दें कि राजेश त्रिपाठी ने सन 1996 में सेवा सहकारी समिति ताला में सेल्समैन की हैसियत से अपनी सेवा शुरू की थी। 2015 में उन्हें पदोन्नाति देकर समिति प्रबंधक बनाया गया। इस अवधि में उन्होंने भ्रष्टाचार कर करोड़ों की संपत्ति बना ली है। जबकि उनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार में अनुपातहीन संपत्ति मिलने की उम्मीद है। ट्रेजरी विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अब तक उन्हें मध्यप्रदेश शासन की ओर से कुल वेतन के रूप में 6,21646 रुपये मिले हैं। जबकि गांव में उनकी खेती योग्य पांच एकड़ की जमीन है।

इनका कहना है

अभी तक की गई कार्रवाई में कुछ चीजें सामने निकल कर सामने आई हैं। जिसमें पांच प्लाट, दो घर, एक कार, दो बाइक, साढ़े तीन लाख रुपये कीमत के आभूषण मिले हैं। बुधवार को भी कार्रवाई है।

प्रवीण चतुर्वेदी, निरीक्षक, ईओडब्ल्यू रीवा

Powered by Blogger.