REWA : कोरोना महामारी में आठ माह से जंग लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों ने नियमित किए जाने की मांग उठाकर सौंपा ज्ञापन


रीवा. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत कोविड-19 में अस्थाई ड्यूटी कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों ने मांगों को लेकर सांकेतिक प्रदर्शन किया। गुरुवार दोपहर स्वास्थ्य कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को संबोधित जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर नियमिति किए जाने की मांग उठाई है। इस दौरान कोविड कर्मचारियों ने कहा कि कोरोना महामारी में अस्थाई नियुक्ति किए जाने के बाद 8 माह से जंग लड़ रहे हैं। कोविड स्वास्थ्य कर्मचारियों ने कहा कि ईमानदारी से मानव सेवा में जुटे हुए हैं।

सुरक्षा कर्मचारियों की तरह नियमित किया जाए 
स्वास्थ्य कर्मचारियों ने वर्ष 2016 में उज्जैन के कुंभ मेले का जिक्र करते हुए कहा कि तीन माह के सुरक्षा कर्मचारियों ने अस्थाई नियुक्ति पर ड्यूटी की। उन्हें नियमित कर दिया गया। इसी तरह कोविड-19 में अस्थाई स्वास्थ्य कर्मचारियों की नियुक्ति को नियमित किया जाए। कोविड-19 स्वास्थ्य संगठन मध्य प्रदेश के पदाधिकारियों ने ज्ञापन ने संयुक्तरूप से कहा कि कोविड-19 में अस्थाई रूप से नियुक्ति डॉक्टर, स्टाफ नर्स सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी ईमानदारी से ड्यूटी पर मानव सेवा का कार्य कर रहे हैं। 

जान जोखिम में डाल कर रहे गाइड लाइन का कर रहे पालन 
जान जोखिम में डाल कर शासन की गाइड लाइन के तहत देश की सुरक्षा के लिए महामारी से जंग लड़ रहे हैं। इस दौरान संघ के प्रवक्ता रोहिणी प्रसाद विश्वकर्मा, डॉ. अरविंद, प्रतिमा अहिरवार, पूनम, सृष्टि भारती, विनीता, सचिन सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।
Powered by Blogger.