नर्मदा मंदिर के सामने काटी रात, सुबह जयकारा लगाकर नदी में कूदी बुजुर्ग महिला : होमगार्ड जवान ने बचाया

सेठानीघाट पर रविवार सुबह 5.15 बजे एक बुजुर्ग महिला नर्मदा मैय्या का जयकारा लगाकर नर्मदा में कूद गई। महिला को डूबता देख वहां मौजूद श्रद्धालु घबरा गए। घटना के वक्त नर्मदा स्नान करने वाली अधिकांश महिला श्रद्धालु ही मौजूद थी। महिलाओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया। घाट पर तैनात होमगार्ड जवान भीमसिंह ने दौड़कर नर्मदा में छलांग लगा दी और जान पर खेलकर बुजुर्ग महिला को बचा लिया। महिला ने खुदकुशी का प्रयास करने का कारण मानसिक परेशानी बताया है।

नर्मदा मंदिर के सामने काटी रात, सुबह कूद गई

महिला को बचाने वाले होमगार्ड जवान भीम सिंह राजपूत ने बताया कि सुबह के समय मैं घाट पर ही तैनात था, ऊपर सीढ़ियों पर खड़ा होकर लोगों को गहरे पानी में जाने के समझाइश दे रहा था। तभी देखा कि एक महिला डूब रही थी अौर अन्य महिला बचाने के आवाज दे रहीं थीं। मैं दौड़कर घाट के नीचे पहुंचा और डूब रही महिला को पकड़कर ऊपर ले आया। उसके पेट में काफी पानी भर गया था उसे उल्टा लेटाकर पानी निकाल दिया। महिला रात से ही घाट पर दिख रही थी। उसे खाना भी खिलाया था नर्मदा मंदिर के सामने ही उसने रात काटी थी।

यहां बचा लिया कहीं और से कूद जाऊंगी

पूछताछ के दौरान महिला ने अपना नाम सरोज पति अनूप सिंह राजपूत 65 वर्ष निवासी पुरानी इटारसी शनि मंदिर के पास बताया। सरोज का कहना था कि परिवार में बेटा बहु भी हैं, वह कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान है। घर में भी माहौल ठीक है कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन उसे जिंदा रहने की चाह नहीं है। मुझे यहां बचा लिया है और कहीं से कूद जाऊंगी। होमगार्ड जवान व अन्य लोगों ने महिला को काफी समझाया। कुछ देर बाद महिला सामान्य हुई जिसके बाद उसे पुलिस वाहन से इटारसी के लिए रवाना कर दिया गया।

होमगार्ड जवान मुस्तैदी से कर रहे ड्यूटी

नर्मदा घाटों पर श्रद्धालुओं के लिए सुरक्षा के लिए कलेक्टर धनंजय सिंह ने होमगार्ड कामंडेंट आरएसके चौहान को व्यवस्था करने के लिए कहा है। शहर के घाट पर होमगार्ड जवान 24 घंटे ड्यूटी कर रहे हैंं। होमगार्ड जवान श्याम सिंह राजपूत, भीम सिंह राजपूत ने डूबने से कई लोगों को बचाया है।

सराहनीय कार्य किया है

एक महिला ने खुदकुशी का प्रयास किया था उसे बचा लिया गया है। होमगार्ड जवान भीम सिंह की सक्रियता से महिला की जान बच सकी। जवान ने अपने फर्ज को निभाते हुए सराहनीय कार्य किया है।

आरएसके चौहान, कमांडेंट, होमगार्ड होशंगाबाद

Powered by Blogger.