REWA : बेटी के जन्मदिन पर पिता की अनूठी पहल/ नेत्रदान का लिया संकल्प : समाजसेवी ने कलेक्टर को सौंपा सहमति पत्र


रीवा. पिता ने बेटी के जन्मदिन पर अनूठी पहल की है। इस पहल से कोई नेत्रहीन दुनिया देख सकेगा। इन्हीं संकल्पों के साथ समाजसेवी तरूणधर द्विवेदी ने अपनी बेटी के जन्मदिन पर अपने नेत्रों को दान करने का संकल्प लिया और नेत्रदान का सहमति पत्र कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी को सौंपा है। 

जन्मदिन को यादगार बनाने लिया निर्णय 
जिले के गड्डी रोड स्थित लक्ष्मणपुर गांव के रहने वाले 41 वर्षीय तरूणधर द्विवेदी खेती के साथ-साथ समाज सेवा का भी काम करते हैं। 11 नवंबर को उनकी बेटी चंचल का 18वां जन्मदिन है। इस दिवस को यादगार बनाने के लिए उन्होंने नेत्र दान करने का संकल्प लिया। द्विवेदी बताते हैं कि जब किसी नेत्रहीन बच्चों को देखते हैं तो उनके मन में यह टीस उठती है कि काश इनकी भी आंखे होती और यह दुनिया देख सकते। आज अपनी बेटी के जन्मदिन पर इन्होंने स्वप्रेरणा से यह शपथ ली कि अपनी आंखे दान करेंगे ताकि उनसे अन्य कोई नेत्रहीन दुनिया देख सके।

कलेक्टर ने दी बधाई 
इस अवसर पर कलेक्टर इलैयाराजा टी ने समाजसेवी को बधाई व धन्यवाद दिया। कलेक्टर ने अपेक्षा की कि समाज के लोग इनसे प्रेरणा लेकर अंगदान के लिए आगे आएंगे। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि प्रचार-प्रसार कर लोगों को प्रेरित करें। कलेक्ट्रेट में भी बैनर लगाया जाय।

126 लोग नेत्रदान कर चुके 
श्यामशाह चिकित्सा महाविद्यालय के नेत्र विभाग के नेत्र बैंक के प्रभारी डॉ. पंकज चौधरी ने बताया कि रीवा में अभी तक 126 लोग नेत्रदान कर चुके हैं जिनमें से 76 का प्रत्यारोपण हो चुका है। शेष नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट में भेजे गए हैं। उल्लेखनीय है कि रीवा में मार्च 2015 में आई बैंक की स्थापना हुई थी। कलेक्ट्रेट में सहमति पत्र सौंपते समय प्रभारी डीन डॉ. शशिधर गर्ग एवं नेत्र विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. शशि जैन उपस्थित रहीं।
Powered by Blogger.