MP : प्रदेश के हर घर तक 47,500 करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि खर्च से पाइप बिछाकर पहुंचाया जाएगा पानी

मप्र सरकार अगले चार वर्षों में प्रदेश के हर घर तक नल कनेक्शन पहुंचाएगी। इस महत्वाकांक्षी योजना में 47,500 करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि खर्च होगी। प्रदेश में कुल 1.21 करोड़ घर हैं। इनमें से अब तक महज 21 लाख घरों में सीधे नल कनेक्शन हैं।

शेष आबादी अपने संसाधनों से पानी जुटा रही है। आत्मनिर्भर मप्र के तहत जल पर गठित सब कमेटी ने अपने एक्शन प्लान में यह बात कही है। अहम बात यह है कि इस एक्शन प्लान पर काम शुरू भी हो चुका है। इसके तहत जारी वित्तीय वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में 1.81 लाख घरों को नल कनेक्शन से जोड़ा गया। दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर में 3.87 लाख घरों तक पाइप के जरिए पानी पहुंचाया जाना है।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी (पीडब्ल्यूडी) विभाग के प्रमुख सचिव और जल सब कमेटी के प्रमुख मलय श्रीवास्तव कहते हैं, हमने दूसरी तिमाही के 30 सितंबर तक के लक्ष्य को 31 अगस्त तक ही पूरा कर लिया है। इसके बाद हम 47 हजार अतिरिक्त कनेक्शन दे चुके हैं। 1 अप्रैल से 13 सितंबर तक हम 5.71 लाख घरों को नल कनेक्शन दे चुके हैं। इस साल कुल 26 लाख घरों तक पाइपलाइन बिछाई जाएगी।

सभी 52 जिलों में 100ऽ घरों को नल के जरिए पानी

सब कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार मप्र में कुल 52 जिले हैं, लेकिन अब तक एक भी ऐसा जिला नहीं है जहां 100ऽ घरों में नल कनेक्शन हों। राजधानी होने के बाद भी भोपाल जिले में केवल 17.45ऽ घरों तक ही सरकार पाइपलाइन बिछाकर पानी दे रही है। मलय कहते हैं, इस वित्तीय वर्ष में हम दो जिले निवाड़ी और बुरहानपुर में हर घर को नल कनेक्शन देंगे। 2021-22 में छह नए जिलों तक 100ऽ घरों को नल के जरिए पानी पहुंचाया जाएगा। 2022-23 में 24 और इसके बाद 2023-24 में शेष बचे 20 जिलों में हर घर को नल जल से जोड़ा जाएगा।

फंडिंग का रोडमैप पहले ही तैयार

अगले चार सालों में हर घर नल जल जैसी अतिमहत्वाकांक्षी योजना के लिए 47,500 करोड़ रुपए कैसे जुटेंगे। यह सवाल सभी विशेषज्ञों के मन में उठ रहा है। मलय कहते हैं कि उन्होंने फंड के लिए योजना तैयार कर ली है। 50ऽ राशि नाबार्ड, एनडीबी, एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) और जापान इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन एजेंसी (जेआईसीए) से कर्ज के रूप में जुटाई जाएगी। शेष राशि लाभार्थियों से ली जाएगी। उनसे केवल लागत का खर्च ही लिया जाएगा। मलय कहते हैं कि इन योजनाओं के लिए धन की कोई कमी नहीं आ रही है। कोरोना संकट के बाद भी केंद्र से जून माह में पहली किश्त मिल चुकी है। दूसरी किश्त अक्टूबर में मिलने वाली है।

तेलंगाना जैसे राज्यों में 93.18ऽ घरों तक सरकार पाइप के जरिए पानी पहुंचा चुकी है। मप्र अगले चार वर्षों में देश का ऐसा पहला राज्य होगा, जहां 100ऽ घरों में पाइप के जरिए जल पहुंचेगा।

3.87 लाख घरों तक पाइप के जरिए पानी पहुंचाया

47 हजार अतिरिक्त कनेक्शन दे चुके हैं

26 लाख घरों तक पाइपलाइन बिछाई जाएगी


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे

Powered by Blogger.