MP BREAKING : बड़ा फैसला : जहां ज्यादा मरीज वहां लगेगा कर्फ्यू , गाइडलाइन का कड़ाई से होगा पालन



भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के अचानक बढ़ने के बाद राज्य सरकार चिंता में पड़ गई है। उसने सख्त कदम उठाने का फैसला लिया है। राज्य सरकार ने इस बार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क लगाने पर जोर दिया है। इधर, मास्क नहीं लगाने पर भोपाल में कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। पुराने भोपाल में बड़ी संख्या में लोगों के चालान बनाए गए। सभी से 100-100 रुपए वसूले गए।

कोरोना की तीसरी लहर के तहत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मंत्रालय में कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक की, जिसमें चौहान ने स्पष्ट कर दिया है कि मध्यप्रदेश में लॉकडाउन की जरूरत नहीं हैं, जबकि गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराया जाएगा। चौहान ने कहा कि फिलहाल स्कूल-कालेज भी बंद रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड 19 अभी गया नहीं है। परिवर्तित होते मौसम में यह चुनौती बड़ी हो सकती है। इसलिए सावधानी बरतें और दिशा-निर्देशों का पालन अवश्य करें। गाइडलाइंस का पालन नहीं करने पर जुर्माना वसूला जाए।

हम सब मिलकर कोविड 19 की चुनौती का सामना करें। लोगों को जागरुक करने के लिए जन-जागरण हो। इस कार्य में एनजीओ भी सहयोग करें। विवाह में भी सीमित लोग ही सम्मिलित हों। स्वयं जागरुक रहें और दूसरों को भी जागरुक करें।

चौहान ने स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में #ख्र्दृड़त्त्ड्डदृध्र्द नहीं लगाया जाएगा। स्कूल और कॉलेज अभी नहीं खुलेंगे। सिनेमा घर अभी पूर्व व्यवस्था के अनुसार 50 प्रतिशत के साथ ही खुलेंगे। याद रखिए कि जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं के मंत्र पर हम सब चलेंगे।

यह भी हुए फैसले

शनिवार से क्राइसिस ग्रुप की लगातार बैठक होगी और सरकार को अपनी सिफारिशें भेजी जाएगी।
शादियों में मेहमानों की संख्या बढ़ाने या घटना पर फैसला बाद में लिया जाएगा।

पूरे ही प्रदेश में मास्क को लेकर सख्ती बरती जाएगी। अभियान चलाया जाएगा। जुर्माना भी वसूला जाएगा। इसे अपने जिले में लागू करने की जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि वे खुद हर एक दिन छोड़कर कोरोना के मामलों की समीक्षा करेंगे।
पुराना वीडियो वायरल

समीक्षा बैठक से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू की बात कही गई थी। यह 6 माह पुराना वीडियो वायरल कर भ्रम फैलाया जा रहा था। इस वीडियो के वायरल होने के बाद फिर से संपूर्ण लॉकडाउन की अटकलें लगने लगी थीं। इस संबंध में मुख्यमंत्री के जनसंपर्क विभाग से भी अधिकृत बयान जारी कर इसे गलत बताया है।

हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे

Powered by Blogger.