REWA : संजय गांधी अस्पताल में स्टाफ नर्स के 270 पद खाली, तीन नर्स के भरोसे ICCU के 14 बेड : मरीजों को हो रही परेशानी


रीवा. विंध्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल में स्टाफ नर्स की नियुक्तियां पांच साल से बंद है। जिससे अस्पताल में स्वीकृत पद के तहत करीब 270 पद रिक्त हैं। अस्पताल में स्टाफ नर्स की कमी के चलते वार्ड से लेकर आइसीयू में मरीजों की देखरेख नहीं हो रही है। आइसीएमआर की गाइड लाइन के तहत अस्पताल के आइसीसीयू में तीन बेड पर एक नर्स होनी चाहिए। लेकिन, सजय गांधी अस्पताल में 14 बेड पर 3 नर्स स्टाफ ड्यूटी कर रही हैं। जिससे मरीजों की देखरेख में दिक्कत हो रही है। आइसीसीयू में उधार के स्टाफ नर्स से काम चल रहा है। 

1150 बेड के अस्पताल में 406 नर्स 
संजय गांधी अस्पताल और जीएमएच को मिलाकर 1150 से अधिक बेड हैं। जिसमें आइसीसीयू के 14 बेड हैं। आइसीएमआर की गाइड लाइन के तहत मरीजों की देख रेख के लिए स्टाफ नर्स के लिए 700 स्वीकृत पद है। बताया गया कि वर्ष 2015 से एसजीएमएच में स्टाफ नर्स की नई नियुक्तियां बंद हो गई हैं। जिससे अस्पताल में मरीजों को देखरेख नहीं हो पा रही है। गाइड लाइन के मुताबिक जनरल वार्ड में 10 मरीजों पर एक स्टाफ नर्स होनी चाहिए। लेकिन, एसजीएमएच के जनरल वार्ड में 30 मरीजों पर दो स्टाफ नर्स मरीजों की देखरेख कर रही हैं। जिससे मरीजों की देखरेख में दिक्कत हो रही है।

जीएमएच के आइसीसीय में भी नर्स की कमी 
जीएमएच के आइसीसीयू वार्ड में गंभीर मरीजों की देखरेख के लिए तीन बेड पर एक स्टाफ नर्स होनी चाहिए। लेकिन, एसजीएमएच के आइसीसीयू के 14 बेड पर तीन स्टाफ नर्स गंभीर मरीजों की देखरेख कर रहे हैं। इससे जहां मरीजों को दिक्क्त हो रही है। वहीं, दूसरी ओर आइसीएमआर की गाडइ लाइन की अनदेखी की जा रही है। गाइड लाइन के अनुसार स्टाफ नर्स के स्वीकृत पदों में से 270 पद लंबे समय से खाली हैं। 

एसजीएमएच की 50 स्टाफ नर्स सुपर स्पेशलिटी में शिफ्ट
संजय गांधी अस्पताल में पदस्थ 407 नर्सों में से करीब 50 स्टाफ नर्स वर्तमान समय में मरीजों की देखभाल के लिए शिफ्ट कर दी गई हैं। रेकार्ड के अनुसार सुपर स्पेशलिटी में 150 स्वीकृत पद हैं। जिसमें 9 की नियुक्तियां पूरी हो चुकी है। शेष 141 की नियुक्ति प्रक्रिया भी पूरी हो गई है। लेकिन, नियुक्ति आदेश जारी नहीं हो सका है। जिससे सुपर स्पेशलिटी में दोबारा रिक्त 131 नियुक्तियां निकाल दी गई हैं। जिसको लेकर चयनित अभ्यर्थी परेशान हैं। 

कमिश्नर चिकित्सा शिक्षा को 7 अक्टूबर को मेडिकल कालेज प्रबंधन ने दी जानकारी 
--संजय गांधी अस्पताल में स्टाफ नर्स के स्वीकृत पदों की नियुक्तियां वर्ष 2015 से बंद हो गई हैं। खाली पदों पर नियुक्ति की जानकारी 7 अक्टूबर को चिकित्सा शिक्षा कमिश्नर को जानकारी दी गई है। शासन की गाइड लाइल के बाद संजय गांधी अस्पताल में नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

वर्जन...
शासन की गाइड लाइन के तहत स्टाफ नर्स की नियुक्तियां होंगी। रिक्त पदों की जानकारी चिकित्सा शिक्षा कमिश्नर को दी जा चुकी है। शासन की गाइड लाइन के तहत नियुक्तियों की प्रक्रिया पूरी की जाएंगी। 

डॉ मनोज इंदुलकर, डीन, मेडिकल कालेज
Powered by Blogger.