जिला अस्पताल में 13 बच्चों की मौत के बाद 3 नए डाॅक्टरों को मिली जिम्मेदारी, एक और बच्चे को कराया गया भर्ती

शहडोल। मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के कुशाभाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय में लगातार हो ही मासूमों की मौत के मामले की जांच में तेजी आई है। शासन की ओर से कड़े निर्देश मिलने के बाद आज स्वास्थ्य अमला बीमार बच्चों के गांव पहुंचे हैं। जहां 15 बीमार बच्चों का उपचार किया जा रहा है। इस बीच एक गंभीर बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जानकारी के अनुसार तुर्री और धनौरा ग्राम में बच्चों की हालत बिगड़ने की सूचना मिली थी। जिसके बाद कलेक्टर ने बीएमओ व उनकी टीम को उपचार के लिए रवाना किया। उल्लेखनीय है कि शहडोल जिला अस्पताल में अब तक 13 बच्चों की जान चली गई है। ​लगातार हो रही मौत पर अस्पताल में उपचार को लेकर कई बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं।

तीन नए डॉक्टरों की तैनाती

जिला अस्पताल के शिशु रोग विभाग में 3 नए डॉक्टरों की पदस्थापना की है। जिला अस्पताल में लगातार बच्चों की मौत को देखते हुए तीन नए डॉक्टरों की नियुक्ति की है। जयसिंहनगर के बीएमओ डॉ राजेश तिवारी को बच्चा वार्ड मेंए मेडिकल कॉलेज के शिशु रोग विशेषज्ञ सर्जन डॉ मनीष सिंह की तैनाती की है। इसके अलावा हाल ही में रिटायर हुए सिविल सर्जन डॉ उमेश नामदेव अब बच्चा वार्ड में अपनी सेवाएं देंगे।

Powered by Blogger.