भाजपा नेता ने पोती की सगाई में उड़ाईं कोरोना गाइडलाइंस की धज्जियां, 5 हजार लोग बुलाए, गरबा भी कराया


कोरोना के कहर को देखते हुए गुजरात सरकार ने शादी समारोह में आने वाले मेहमानों की संख्या 100 कर दी है। अगर शादी में 100 से ज्यादा लोग पाए जाएंगे तो आयोजनकर्ता पर 25 हजार का जुर्माना लगेगा। लेकिन यह नियम सिर्फ आम नागरिकों के लिए है, वीआईपी लोगों के लिए नहीं है। क्योंकि नियमों की धज्जियां उड़ाता एक मामला तापी जिले डासवाडा जिले से सामने आया है। जहां बीजेपी के पूर्व विधायक और आदिजाति मंत्री कांति गामित की पोती की सगाई में 5 हज़ार से ज्यादा लोग शामिल हुए और गरबा भी खेला।

इस सगाई समारोह की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। जिसको लेकर लोग राज्य सरकार से सवाल कर रहे हैं कि क्या कानून आम नागरिकों के लिए ही है। इसी के चलते अब इसकी गूंज गांधीनगर तक सुनाई दे रही है। गृह राज्यमंत्री प्रदीप जडेजा ने इस वीडियो की जांच के आदेश दिए है। सूचना मिली है कि तुलसी विवाह और सगाई एक साथ हुई है।

सार्वजनिक था सगाई समारोह

कहा जा रहा है कि यह सगाई समारोह सार्वजनिक था। इसमें डासवाडा गांव के अलावा आसपास के गांवों के लोग भी थे। इस दौरान न तो नेताजी और न ही प्रशासन को इस बात ख्याल आया कि शादी समारोह में 100 से ज्यादा लोगों का आना मना है। इतना नहीं कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां भी उड़ाई गई और इस कार्यक्रम जमकर गरबा हुआ।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा सगाई का वीडियो

इस सगाई समारोह की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। जिसको लेकर लोग राज्य सरकार से सवाल कर रहे हैं कि क्या कानून आम नागरिकों के लिए ही है। इसी के चलते अब इसकी गूंज गांधीनगर तक सुनाई दे रही है। गृह राज्यमंत्री प्रदीप जडेजा ने इस वीडियो की जांच के आदेश दिए है। सूचना मिली है कि तुलसी विवाह और सगाई एक साथ हुई है।
Powered by Blogger.