MP : एक जनवरी से खुलेंगे कॉलेज ,गाइडलाइन का ध्यान रखते पचास फीसद क्षमता के साथ शुरू होंगी कक्षाएं

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक जनवरी से कॉलेज खुलेंगे। इसकी शुरुआत प्रायोगिक कक्षाओं के संचालन से होगी। इसमें कोरोना की गाइडलाइन का ध्यान रखते हुए पचास फीसद की क्षमता के साथ तीन-तीन दिन के लिए बैच निर्धारित करके कक्षाएं शुरू की जाएं। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में हुई उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान दिए। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने बताया कि 10 जनवरी से स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की कक्षाएं शुरू होंगी।

मध्यप्रदेश में बदले मौसम के मिजाज, बारिश थमते ही जोर पकड़ेगी ठंड

20 जनवरी के बाद पूरी तरह से कॉलेज खोलने को लेकर जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में निर्णय लिया जाएगा। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यावसायिक शिक्षा को बढ़ावा दिया जाए ताकि विद्यार्थियों को रोजगार मिलने में आसानी हो। स्वरोजगार की दिशा में युवा बढ़ें। दो सौ कॉलेज के अधोसंरचना विकास की कार्रवाई शुरू की जाए, जिससे विद्यार्थियों को स्मार्ट क्लास रूम जैसी सुविधाएं मिल सकें। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की वजह से अब तक मध्य प्रदेश में कॉलेजों में कक्षाएं शुरू नहीं हुई थी और ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन किया जा रहा था। कॉलेज खुलने के साथ सबसे पहले प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। कोरोना आपदा का सबसे ज्यादा असर शिक्षा पर भी पड़ा है।

सीएम शिवराज का पलटवार, कहा- कांग्रेस के मित्र बिन पेंदी के लोटे हैं, सफल नहीं होंगे काले कारनामों में

जनवरी तक नहीं खोले जाएंगे बोर्डिंग स्कूल

बोर्डिंग स्कूल की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल जनवरी तक बोर्डिंग स्कूल नहीं खोले जाएंगे। फरवरी में इन्हें खोलने पर विचार किया जाएगा।

Powered by Blogger.