कड़ी पत्ते की चाय बल्ड शुगर को करती है नियंत्रित, साथ ही हैं इसके कई बड़े फायदे


कड़ी पत्ते का प्रयोग कई व्यंजनों की सुगंध और स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। कड़ी पत्ता न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता बल्कि यह आपकी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। खाने में तड़के के रूप में तो आप कड़ी पत्ते का उपयोग करते ही हैं साथ में आप इसकी चाय बनाकर भी पी सकते हैं। कड़ी पत्ते की चाय ब्लड शुगर को नियंत्रित तो करती ही है ये अन्य भी कई फायदे हैं। तो आइए जानते हैं कड़ी पत्ते की चाय बनाने की विधि और उसके फायदे...

ब्लड शुगर को करे कंट्रोल
कड़ी पत्ते की चाय का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए एक अच्छा विकल्प है। एक अध्ययन के मुताबिक कड़ी पत्ते आपके ब्लड शुगर के स्तर को लगभग 45 प्रतिशत कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं। मधुमेह के रोगी प्रतिदिन कड़ी पत्ते की चाय का सेवन करके बल्ड शुगर को नियंत्रण में रख सकते हैं। 

मॉर्निंग सिकनेस से दिलाए छुटकारा
कभी-कभी सुबह उठने पर मितली जैसा महसूस होने लगता है, जिसे मॉर्निंग सिकनेस कहते हैं। ये समस्या ज्यादातर गर्भवती महिलाओं को सुबह के समय ज्यादा होती  है। इस स्थिति में कड़ी पत्ते की चाय आपको मॉर्निंग सिकनेस की समस्या से निजात दिलाने में मददगार रहती है।

पाचन क्रिया को बनाए सुचारू
कड़ी पत्ते में पाचन एंजाइम पाए जाते हैं। जिससे आपको खाना पचाने में सहायता मिलती है। कड़ी पत्ता कब्ज और गैस राहत देने में भी मददगार है, इसलिए कड़ी पत्ता को स्वास्थय के लिए अच्छा माना जाता है। 

कड़ी पत्ता तनाव को दूर करने भी है सहायक
कड़ी पत्ते की चाय एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है। कड़ी पत्ते की सुगंध से तनाव में फायदा मिलता है। अलावा कड़ी पत्ते की चाय पीने से तनाव दूर करने में भी मदद मिलती है। 

प्रतिदिन एक कप कड़ी पत्ते की चाय आपकी पाचन क्रिया को तो दुरुस्त रखती ही हैं साथ है ये कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखने में सहायक है। वजन कम करने वालों को लिए कड़ी पत्ते की चाय एक बेहतर विकल्प हो सकती है। 

कड़ी पत्ता चाय बनाने की विधि
एक पैन में दो से तीन कप पानी उबलने के लिए रख दें। 20 से 25 कड़ी पत्ते लेकरउन्हें अच्छे से धो लें। पानी गर्म हो जाने पर उसमें कड़ी पत्ता डाल दें। जब पानी का रंग बदलने तक इसे उबालें। 4 से 5 मिनट में पानी का रंग बदलने लगेगा। तब गैस को बंद कर दें। छलनी से छानकर इसे पीएं। अगर आपको ऐसे स्वाद अच्छा न लगे तो थोड़ा सा शहद मिला सकते हैं। 

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण): यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है। किसी बीमारी के पेशेंट हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।
Powered by Blogger.