MP : दिल का रिश्ता : पति को हुआ कैंसर तो 13 साल पहले जुदा हुई पत्नी ने थामा हाथ

भोपाल । गीत-संगीत उसके रग-रग में बसा था। शादी होने के बाद उसने घर में रियाज करना जारी रखा। बहू का यह शौक संयुक्त परिवार को रास नहीं आया। अंतत: एक साल में पति-पत्नी ने आम सहमति से तलाक ले लिया। एक साल बाद ही मायके पहुंची महिला ने संगीत के साथ ही आत्मनिर्भर होने के लिए पढ़ाई शुरू की। उसे सरकारी विभाग में अच्छा ओहदा मिल गया।

इधर, पति को अचानक कैंसर की बीमारी का पता चला। कुछ दिनों तक साथ देने के बाद उसके परिजन ने अस्पताल में दाखिल करने के बाद उससे किनारा कर लिया। इस बीच पति-पत्नी के संयुक्त मित्र ने जब महिला को पति के कैंसर पीड़ित होने की जानकारी दी तो वह पुरानी सारी कड़वाहट को भुलाते हुए पति को न सिर्फ घर लेकर आई, बल्कि उन्‍हें कैंसर के अवसाद से बाहर निकालने के लिए वह रोजाना जीवटता से ओत-प्रोत गीत भी सुना रही है।

संगीत बना था अलगाव का कारण : दोनों के बीच तलाक हो गया और जब 13 साल बाद मिले तो पत्नी ने कब के बिछड़े हुए आज कहां आ के मिले...गाना गाकर अपनी सारी भावनाएं पति के सामने उड़ेल दी। दरअसल, पति को तीसरे स्टेज का कैंसर हो गया। पत्नी को पता चला तो उसने पति का हाथ थामा और अब अपने साथ रखकर इलाज करा रही है। यह मामला कुटुंब न्यायालय की काउंसलर सरिता राजानी के पास पहुंचा। पति के दोस्त ने काउंसलर से दोनों को मिलवाने की गुहार लगाई और काउंसिलिंग कराई। दोनों की वीडियो काउंसिलिंग की गई।

2006 में हुई थी शादी : दोनों की शादी 2006 में हुई थी। पत्नी को संगीत का बहुत शौक था। वहीं पति का 27 लोगों का संयुक्त परिवार था। वह घर के काम करने के बाद गाने सुनने लगती थी। उसके संगीत प्रेम को परिवार पसंद नहीं करता था। इस कारण घर में आए दिन विवाद होने लगा। दोनों ने एक साल बाद 2007 में आपसी सहमति से तलाक ले लिया। पत्नी मायके चली गई, फिर से पढ़ाई शुरू की और सरकारी विभाग में अच्छे पद पर आसीन हो गई।

पति को तीसरे स्‍टेज का कैंसर : पति के परिवार को वर्ष 2018 में पता चला कि उसे कैंसर है और तीसरे स्टेज में है। परिवार ने उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया और कुछ दिन बाद उसे अस्पताल में छोड़कर चले गए। यहां तक कि देखभाल भी नहीं करते थे। पति के दोस्त ने उसकी तलाकशुदा पत्नी को पूरी बात बताई। यह सब सुनकर पत्नी ने वीडियो कॉल किया और जैसे ही पति की हालत देखी तो फूट-फूटकर रोने लगी। इसके तुरंत बाद वह अस्पताल जाकर पति से मिली। अब वह पति के इलाज में पूरी मदद कर रही है। वह पति को मुंबई के एक निजी अस्पताल में इलाज कराने के लिए लेकर गई है। अब संगीत के साथ-साथ पत्नी का साथ भी पति को मिल रहा है।

संगीत के कारण एक दंपती के बीच अलगाव हुआ, लेकिन पति की बीमारी के कारण फिर से पत्नी ने हाथ थामा है। 

सरिता राजानी, काउंसलर, कुटुंब न्यायालय

Powered by Blogger.