MP : रीवा जिले में इस सरकारी जमीन से कब्जा हटाने इस विधायक का पत्र सोशल मीडिया पर मचा रहा बवाल : देखें वायरल पत्र

ऋतुराज द्विवेदी,रीवा। शहर के विश्वविद्यालय इटौरा बाईपास के पास सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाने के लिये भाजपा के विधायक नाग्रेन्द्र सिहं ने मध्यप्रदेश शासन के प्रमुख सचिव राजस्व को पत्र लिखा था। उनके पत्र को प्रमुख सचिव ने गम्भीरता से लेते हुए जमीन में कब्जे को लेकर जांच करवाने के साथ ही उसे हटाने की भी कार्रवाई की है।

यह था वायरल पत्र

शोसल मीडिया पर वायरल हुये पत्र में विधायक ने 13 अगस्त 20 को प्रमुख सचिव के नाम पत्र लिखा था। जिसमें उन्होने प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया कि तथाकथित संगठन के श्रीधर दुबे के द्वारा सरकारी जमीन पर परशुराम आश्रम के नाम पर कब्जा किया गया है। इससे करोड़ो की सरकारी सम्पत्ति खुर्द-बुर्द हो रही है।

प्रमुख सचिव ने इस पत्र को गम्भीरता से लिया और 2 सितम्बर 20 को कार्रवाई के लिये पत्र स्थानिय प्रशासन को प्रेषित किया था। जांच के बाद प्रशासन ने सरकारी जमीन पर बने अवैध निर्माण को गिरा दिया, जबकि परशुराम मंदिर सुरक्षित हैं।

अतिक्रमण हटाने गए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को आश्रम ढहाने के बाद#पंडाबाबा ने मिठाई खिलाई


एन्टी अभियान के तहत कार्रवाई

दरअसल प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के निर्देश पर प्रदेश भर में एन्टी भूमफिया अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत परशुराम आश्रम के नाम सरकारी जमीन से भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई।


कार्रवाई की निंदा

ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मझियार जीतेन्द्र सिहं ने परशुराम आश्रम परिसर में की गइ्र्र कार्रवाई की निंदा की है। उन्होने कहां कि मंदिर परिसर में प्रशासन द्वारा चलाया गया बुल्डोजर से साधू-संतों को समस्या आएगी। उन्होने कहां कि शिवराज सरकार ने यह कार्रवाइ्र्र करके धार्मिक आस्था को चोट पहुचाई है। हालांकि वायरल हो रहे इस पत्र की पुष्टि रीवा रियासत न्यूज़ पोर्टल नहीं करता है. 



हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.