REWA : राष्ट्रीय लोक अदालत में आया ऐसा मामला, आप भी रह जाएंगे दंग : 6 करोड़ से ज्यादा की समझौता राशि हुई पारित


रीवा. राष्ट्रीय लोक अदालत में 1590 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इस दौरान समझोता के तहत 6 करोड़ 74 लाख 51 हजार 814 रुपए की समझौता राशि पारित की गई। दूर-दूर से आए पक्षकारों ने आपसी सहमती से प्रकरणों को खत्म कराया। जिला न्यायालय परिसर में जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार सिंह ने किया।

बिजली काउंटर पर बिजली चोरी का प्रकरण
लोक अदालत के दौरान बिजली कंपनी के काउंटर पर दोपहर बाद करीब तीन बजे चिरहुला निवासी अरुण कुमार शुक्ला दो अलग-अलग नोटिस दिखाते हुए कहा कि पहली नोटिस वर्ष 2015 में आई थी। जुर्माना राशि जमा कर दिया हूं। अरुण शुक्ल ने कहा कि जुर्माना जमा करने के बाद दूसरा चोरी का प्रकरण वर्ष 2017 में बना दिया गया।

अपराध संख्या बदल कर बना दिया दूसरा प्रकरण 
पीडि़त ने अपराध संख्या बदल दिया है। जबकि मेरे पिता के नाम कनेक्शन है। इसके बावजूद चोरी का प्रकरण बना दिया गया है। साहब मेरे केस में ऐसा लगता है कि अपराध संख्या बदकर दोबारा नोटिस जारी कर दी गई। काउंटर पर बैठे बिजली कर्मचारियों ने दोनों नोटिस देखने के बाद बोले सोमवार को कार्यालय आइए। जांच कराकर ठीक करा दिया जएगा। 


इसी तरह अदालत में इतने प्रकरण हुए निराकृत 
राष्ट्रीय लोक अदालत में दाण्डिक संबंधी 46 प्रकरणों में 146800 रुपए चेक बाउंस के 29 प्रकरणों में 7593157 रुपए, मोटर क्लेम के 95 प्रकरणों में 25226000 रुपए, सिविल के 33 प्रकरणों में 3580986 रुपए, विद्युत प्रिलिटिगेशन के 164 प्रकरणों में 1976286 रुपए, विद्युत के लंबित 139 प्रकरणों में 3000562 रुपए, श्रम संबंधी 9 प्रकरणों में 5081000 रुपए, बैंक प्रिलिटिगेशन के 374 प्रकरणों में 17041527 रुपए तथा जल कर के 548 प्रकरणों में 1044478 रुपए सहित अन्य 147 निराकृत प्रकरणों में 1380509 रुपए की समझौता राशि पारित की गई। इस दौरान पारिवारिक विवाद के 6 प्रकरणों का निराकरण भी हुआ।
Powered by Blogger.