REWA : अनिश्चितकाली हड़ताल पर गए नजूल समेत 12 तहसीलों के तहसीलदार, लडखार्ई व्यवस्था : एक माह तक जनरल पेशी बढ़ी


रीवा. प्रदेश के कोतमा और उंचेहरा में माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंचे तहसीलदारों से झूठाझटकी से नाराज तहसीलदार अनिश्चितकाली हड़ताल पर चले गए हैं। मंगलवार को दूसरे दिन भी तहसीलों में तहसीलदारों के कार्यालय के ताले नहीं खुले। इस दौरान बाबुओं की टेबल पर पक्षकारों की भीड़ जमा रही। बाबुओं ने राजस्व प्रकरणों में पक्षकारों को 15 दिन से लेकर आगामी एक माह तक जनरल पेशी बढ़ा दी है। 

नजूल समेत 12 तहसीलों में हड़ताल 
जिले में तहसीलदारों के हड़ताल के चलते राजस्व कार्यालयों की व्यवस्था लडखड़़ा गई है। जिला मुख्यालय पर नजूल और हुजूर तहसील सहित जिलेभर की 12 तहसीलों में मंगलवार को भी तहसीलदार काम पर नहीं लौटे। जिससे दूर-दूर से आए फरियादियों और पक्षकारों को बैरंग लौटना पड़ा। हुजूर तहसील में तहसीलदार रामेश्वर प्रसाद द्विवेदी, नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला, गोविदंॐगढ़ नायब तहसीलदार निवेदिता त्रिपाठी सहित बनकुंइया नायब तहसीलदार के कार्यालय में बाबुओं की टेबल पर पक्षकारों की भीड़ जमा रही। 

तहसीलों में बाबुओं ने लगा दी जनरल पेशी 
तहसीलों में सुनवाई नहीं होने से बाबुओं ने प्रकरणों की जनरल पेशी बढ़ा दी। जिससे कड़ाके की ठंड में पक्षकार बैरंग लौट। राजस्व अधिकारी संघ के पदाधिकारियों ने कहा है कि सरकार माफियाओं के खिलाफ अभियान चला रही है। कोतमा और उंचेहरा में माफियाओं ने तहसीलदार साथियों के साथ झूमाझटकी की है। ऐसे में माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। आंदोलित तहसीलदारों ने कहा कि सरकार ने माफिया के खिलाफ कार्रवाई तो दूर तहसीलदारों का ही स्थानांतरण कर दिया। ऐसे में माफिया के खिलाफ अभियान कैसे चलेगा।
Powered by Blogger.