ये हैं वो 10 उम्मीदें, जो हर पत्नी अपने पति से रखती है


पति-पत्नी का रिश्ता बहुत ही खास होता है। इसी रिश्ते पर उनका जीवन आधारित होता है। साथ ही, आने वाली उनकी पीढ़ी का भी। इस रिश्ते में परस्पर प्रेम, विश्वास और मधुरता बनी रहनी चाहिए। ऐसा नहीं होने पर वैवाहिक जीवन नरक के समान हो जाता है। बहुत से लोग इस तरह के संबंधों में रूटीन लाइफ जीने लगते हैं और किसी तरह की खुशी महसूस नहीं करते। उनके लिए यह बोझ के समान लगने लगता है। वो सोचते हैं कि विवाह एक ऐसा बंधन है, जिससे छुटकारा नहीं मिल सकता।

वहीं, बहुत ऐसे कपल्स मिलते हैं, जिनकी लाइफ में खुशियां ही खुशियां नज़र आती हैं। वो परस्पर हर बात शेयर करते हैं, एक-दूसरे का ख़्याल रखते हैं और हर अपनी कोई भी बात एक-दूसरे से छिपाते नहीं हैं। दरअसल, पति-पत्नी के रिश्ते में उम्मीदें बहुत होती हैं और ये ज़्यादा महिला की ओर से होती है। ऐसा न होने पर, रिश्ते में तनाव पैदा होने लगता है।

सही तो ये है कि अगर आपने एक-दूसरे के साथ रहने का फैसला किया है, तो आपको बहुत ही समझदारी का परिचय देना पड़ेगा। आपको अपनी लाइफ में रोमांस बरकरार रखना होगा, नहीं तो छोटी-छोटी बातों पर आपके बीच झगड़े होने लगेंगे और आप परेशान हो जाएंगे। अगर आप हैप्पी मैरिड लाइफ जीना चाहते हैं, तो यह ज़रा भी कठिन नहीं है। इसके लिए बस आपको कुछ बातों का ख़्याल रखना होगा और अपना एटिट्यूड सही रखना होगा। इस मामले में जहां पत्नी को पति का साथ देना चाहिए, उसे अच्छे से समझना चाहिए, वहीं पति का भी कर्तव्य है कि वो अपनी पत्नी की उम्मीदों को समझे और उसका सम्मान करे।

ख़ास पलों को याद रखें

अपनी लाइफ और पार्टनर से जुड़े पलों का याद रखने में कोई बुराई नहीं। हसबैंड को वाइफ का और वाइफ का हसबैंड का बर्थडे याद न रहे, ऐसा हो नहीं सकता। लेकिन कभी आप भूल भी सकते हैं, इसलिए वाइफ या पति का बर्थडे कब है, अपनी पहली मुलाकात, शादी की सालगिरह और भी लाइफ से जुड़ी खास तारीखें और जगह याद रखें, उन्हें नोट कर लें। अपने पार्टनर को खुश और इम्प्रेस करने के लिए डेट याद रखना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन याद रखने और गिफ्ट देने पर पार्टनर को खुशी होती है।

इमोशनली साथ होना

पत्नी को सबसे ज़्यादा ज़रूरत पति के इमोशनल सपोर्ट की होती है। दुनिया की हर औरत चाहती है कि उसका पार्टनर उसके बुरे और खराब वक्त में हमेशा साथ हो, केयर करे और मुश्किल स्थितियों में साथ दे।

शॉपिंग के लिए साथ जाएं

इसमें कोई दो राय नहीं कि हर महिला को शॉपिंग करने का शौक होता है। ऐसा स्टडी में भी माना गया है कि महिलाएं अपने स्ट्रेस को दूर करने के लिए शॉपिंग करना ज़्यादा पसंद करती हैं। दूसरे पार्टनर की खुशी के लिए, इसमें कोई बुराई भी नहीं है। पत्नी को बहुत अच्छा लगता है, जब पति उसके पसंद की ड्रेस खरीदता है।

पार्टनर के प्रति ईमानदार रहें और झूठ न बोलें

शादी से पहले आपके कितने अफेयर थे और कितनी गलतियां की, इन सब के बारे में अपने पार्टनर को ज़रूर बताएं। अगर आपको लगता है कि बताने से आपका रिलेशन खराब हो जाएगा, तो आप गलत सोच रहे हैं। झूठ बोलने से आपके रिलेशन और ज़्यादा खराब होंगे। इससे अच्छा है कि आप सही और सच बताएं, ताकि आपके पार्टनर को आप पर विश्वास रहे। आपके रिलेशन में किसी भी तरह का झूठ नहीं होना चाहिए। अगर आप झूठ बोलते हैं तो इससे यह साबित होता है कि आप पार्टनर पर विश्वास नहीं करते और आपके रिलेशनशिप में मज़बूती नहीं है।

प्यार से गले लगाना

महिलाओं को गले लगाना या प्यार से सहलाया जाना बेहद पसंद होता है। इससे पता चलता है कि आप अपने पार्टनर को कितना प्यार करते हैं। पत्नी को प्यार से गले लगाने पर दोनों एक-दूसरे के साथ इमोशनली अटैच होते हैं। ऐसा नहीं कि प्यार का मतलब फिजिकली इंटीमेट होना ही है, बल्कि प्यार को बनाए रखने के लिए एक पैशनेट किस भी काफी होता है।

अपने सेंस ऑफ ह्यूमर को प्रूव करें

अगर आपको पास गुड सेंस ऑफ ह्यूमर है, तो आप इस सेंस का यूज़ करें। आपको पता होना चाहिए कि लड़कियों को अच्छे सेंस ऑफ ह्यूमर वाले लड़के पसंद आते हैं।आपको लगता है कि आपका सेंस ऑफ ह्यूमर थोड़ा वीक है तो अच्छे जोक्स याद करें और पार्टनर को खुश करने के लिए सुनाएं।

वाइफ की तारीफ करें

अगर आपकी वाइफ ने कोई अच्छा या आपकी पसंद का खाना बनाया है, तो आप इसकी तारीफ ज़रूर करें। पार्टनर के कॉन्फिडेंस को बढ़ाने के लिए उसे प्रोत्साहित करें और आगे बढ़ने में मदद करें। आज भी हमारे समाज में ऐसे लोग हैं, जो वाइफ की गलती न होने पर भी उसे दोष देने लगते हैं और अच्छे काम की कभी तारीफ नहीं करते।

फ्रेंड्स होने पर ऑब्जेक्शन न करें !

जब आपकी वाइफ आपके फ्रेंड्स के साथ होने पर ऑब्जेक्शन नहीं करती है, तो आपको भी नहीं करनी चाहिए। एक बात आप जान लें कि लड़कियों के लिए फ्रेंड्स फैमिली के बाद आते हैं, इसलिए फ्रेंड्स के साथ होने पर वाइफ को गुस्से से न देखें। अपनी वाइफ के फ्रेंड्स की इज्ज़त करें और उनके साथ अपना फ्रेंडली नेचर रखें।

वाइफ के व्यवहार को ड्रामा न बताएं

महिलाओं को इस बात पर बेहद गुस्सा आता है, अगर कोई उनकी बात को ड्रामा बता दे। वाइफ की बातों पर ओवर रिएक्ट न करें। अगर आपको लगता है कि आपकी वाइफ ड्रामा कर रही है तो गुस्से के बजाए शांत होकर बात करें और परिस्थिति को समझने की कोशिश करें,पार्टनर के ठीक से बात न करने पर कई बार महिलाएं ज़्यादा गुस्सा करने लगती हैं।

Powered by Blogger.