UP : गर्लफ्रेंड पर किये लाखों रुपये खर्च, फिर शरीर में चीरा लगाकर रखवाई गोली, डेढ़ लाख की लूट का किया नाटक..

शरीर में चीरा लगाकर कारतूस की गोली रखवाई, डेढ़ लाख की लूट होने का किया नाटक


गैस एजेंसी पर काम करने वाले एक युवक ने अपनी गर्लफ्रेंड पर लाखों रुपये खर्च कर दिए और फिर लूट की झूठी कहानी रच दी. युवक ने अपने साथियों की मदद से पहले पीठ में चीरा लगवाया और फिर उसमें एक फायर की गई गोली रख दी जिससे लगे कि बदमाशों ने गोली मारकर उससे पैसे छीन लिए हैं. यह सनसनीखेज मामला उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले का है.

लखीमपुर खीरी जिले में थाना सदर कोतवाली क्षेत्र में एक युवक ने अपने पीठ में एक चीरा लगाकर फिर उसमें कारतूस की गोली रखवाकर अपने साथ डेढ़ लाख की लूट का नाटक करने का मामला सामने आया है.

13 दिसम्बर को खीरी कस्बे में एक गैस एजेंसी पर सेल्समैन का काम करने वाले गौरव राठौर ने अपनी गर्लफ्रेंड पर लाखों रुपये बर्बाद कर दिए थे जिसके चलते वह गैस एजेंसी पर जमा होने वाली रकम को हड़पना चाहता था.

इसके लिए उसने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपनी पीठ में एक चीरा लगवाकर, फिर कारतूस की एक गोली यानी कि छर्रा शरीर में डलवाने के बाद अपने साथ डेढ़ लाख रुपए लूटे जाने की जानकारी पुलिस को साझा की थी.

13 दिसंबर को गौरव राठौर द्वारा पुलिस को दी गई जानकारी कि हमारे साथ लूट हो गई है. इस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गौरव राठौर को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया था. वहां से उसकी गंभीरता को देखते हुए उसे मेडिकल कॉलेज लखनऊ रेफर कर दिया गया था.

पुलिस ने गैस एजेंसी के सेल्समैन को गोली मारे जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच शुरू की तो एक चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है. पुलिस के खुलासे में घटना फर्जी पाई गई है. पुलिस ने पीड़ित समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और उनके पास से 1.49 लाख रुपये और पिस्टल बरामद कर ली है.

पुलिस को पहले दिन से ही शक था कि पीड़ित कोई कहानी बना रहे हैं. पुलिस ने गौरव, सभासद अकील, एजाज और मनोज को गिरफ्तार कर किया और उनसे पूछताछ की जिसमें सभी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. पुलिस ने चारों के पास से 1.49 लाख की नगदी और पिस्टल बरामद कर ली. 

पुलिस ने गौरव का दोबारा मेडिकल कराया जिसमें डॉक्टर ने साफ कर दिया कि उसको गोली मारी नहीं गई है बल्कि चीरा लगाकर पीठ के मांस में गोली रखी गई है जबकि घटना वाले दिन एक्सरे में गौरव की पीठ में गोली पाई गई थी. डॉक्टरों ने उसे लखनऊ रेफर कर दिया था.

पुलिस के अनुसार घटना वाले दिन चारों आरोपी एजाज के घर खीरी टाउन में जमा हुए. यहीं मनोज ने गौरव की पीठ में चीरा लगाया और अंदर कारतूस रख दिया. इससे पहले आरोपियों ने बरामद की गई पिस्टल से जमीन में फायर किया जि‍ससे गोली जमीन में धंस गई थी. यही गोली आरोपियों ने जमीन से निकाल ली और फिर गौरव की पीठ में रख दी जिससे मेडिकल में आ जाए कि बदमाशों ने गौरव को गोली मारी है.

लखीमपुर खीरी जिले के एएसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि मितौली थाना क्षेत्र के गांव अल्लीपुर में रहने वाला गौरव राठौर, खीरी टाउन में गैस एजेंसी पर काम करता था. वह शराब पीने का आदी था. उसने अपनी अय्याशी में काफी पैसा खर्च कर दिया था. 

पैसे की कमी के चलते उसने एजेंसी के पैसों को हड़पने की प्लानिंग की जिसमें उसने अपने दोस्त सभासद अकील अहमद, एजाज और मनोज श्रीवास्तव को मिला लिया. चारों ने मिलकर कहानी बनाई कि 13 दिसम्बर की शाम चोरही बगिया के पास बदमाशों ने गोली मारकर गौरव से डेढ़ लाख की नगदी लूट ली है. कहानी सच दिखे इसके लिए पहले ही गौरव की पीठ में चीरा लगाकर कारतूस रख दिया गया था. यह काम मनोज ने किया था. मनोज जिला अस्पताल की इमरजेंसी में प्राइवेट कंपाउंडर है.

Powered by Blogger.