MP : भीषण सड़क हादसा : तेज रफ्तार ट्रेलर और जीप की भिड़ंत में 8 की मौत, मां को नहीं बताया कि बेटे नहीं रहे

राजस्थान के टोंक जिले के सदर थाना इलाके में देर रात तेज रफ्तार ट्रेलर और जीप की भिड़ंत में मध्यप्रदेश के रहने वाले एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि चार जख्मी हुए। तीन साल की बच्ची सुरक्षित बच गई। घायलों को इलाज के लिए जयपुर रैफर किया गया है। मृतकों में चार पुरुष, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। यह परिवार खाटू श्यामजी के दर्शन करके लौट रहा था।

हादसा नेशनल हाईवे 52 पर पक्का बंधा इलाके में हुआ। इसमें ट्रेलर की टक्कर के बाद जीप पुलिया की दीवार से टकराकर बुरी तरह से पिचक गई। उसमें सवार लोग गाड़ी में ही फंस गए। हादसे में कुछ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को गाड़ी से बाहर निकाला गया। जहां कुछ की अस्पताल पहुंचने के बाद मौत हो गई।

राजस्थान में हादसे के बाद शोक में डूबा शहर:हाट बाजार के बाद भी आधा जीरापुर बंद, आठों शवों का शाम को होगा अंतिम संस्कार, मां को नहीं बताया कि बेटे नहीं रहे

चचेरे भाई दर्शन करने पहुंचे थे, उन्हें लेने आया था परिवार

हादसे में मरने वाले सभी 8 लोग एक ही परिवार के थे। इसमें दो चचेरे भाई 25 दिन पैदल चलकर खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंचे थे। इनका परिवार दो गाड़ियां लेकर इन्हें लेने खाटू श्याम आया था। एक चचेरा भाई पीछे की गाड़ी में होने कारण बच गया, लेकिन दूसरे चचेरे भाई की हादसे में मौत हो गई। उसका सगा भाई भी इस हादसे का शिकार हो गया।

इनकी हुई मौत

हादसे में कुल 8 लोगों की मौत हो गई। इसमें दो सगे भाई रामबाबू और श्याम सोनी शामिल हैं। रामबाबू के एकलौते बेटे नयन और श्याम सोनी के बेटे ललित (पदयात्री) ने भी दम तोड़ दिया। वहीं, ममता और बबली नाम की दो बहनों (रामबाबू और श्याम की चचेरी बहनें) और ममता के बेटे अक्षत की मौत हो गई। अक्षिता नामक एक बच्ची ने भी दम तोड़ दिया, उसकी मां सरिता घायल है। वहीं, सरिता की 3 साल की दूसरी बेटी नन्नू को हादसे में खरोंच तक नहीं आई।

क्रेन की मदद से घायलों को बाहर निकाला

टक्कर इतनी भीषण थी कि सवारी गाड़ी मजार वाली पुलिया से टकराकर बुरी तरह से पिचक गई। उसमें सवार लोग गाड़ी में ही फंस गए। हादसे में कई लोगों की तो मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद सदर थाना से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और क्रेन तथा जेसीबी की मदद से घायलों को निकालकर अस्पताल पहुंचाया।

Powered by Blogger.