MP : बीकॉम की छात्रा ने इस वजह से रची थी गैंगरेप और अपहरण की झूठी साजिश, इस तरह हुआ मामले का भांडाफोड़

इंदौर । बाणगंगा थाना क्षेत्र में युवती द्वारा गैंगरेप की शिकायत दर्ज करने के बाद हड़कंप मच गया था। वहीं घटना के महज कुछ घंटे बाद ही पुलिस ने इस पूरी घटना को फर्जी करार दिया था । आरोप लगाने वाली युवती के खिलाफ पुलिस ने 182, 211 आईपीसी के तहत मामला भी दर्ज किया है । पुलिस ने यह साफ कर दिया है कि गैंगरेप की घटना पूरी तरह फर्जी है।

लालू यादव की अचानक बिगड़ी तबीयत, 25 प्रतिशत ही काम कर रही किडनी, सांस लेने में हो रही है तकलीफ..

मेडिकल जांच में के बाद फर्जी मामले की पुष्टि की गई है। रिपोर्ट में इंजरी और गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई है। बिल्डिंग में रहने वाले युवक को फंसाने के लिए युवती ने ये पूरी साजिश रची थी। युवती पहले भी दो छेड़छाड़ के मामले दर्ज करा चुकी है। आरोपी युवती सेटलमेंट के नाम पर पैसे वसूलती थी ।

फर्जी निकली गैंगरेप की कहानी, युवती ने बॉयफ्रेंड से बदला लेने रची थी साजिश : ऐसे खुला राज

दरअसल बाणगंगा थाना क्षेत्र में दर्ज हुई एफआईआर में छात्रा ने बताया था कि उसे पाटनीपुरा से उसके परिचित युवक ने बहला-फुसलाकर अपने साथ लिया। आगे जाकर उसे नशीला पदार्थ खिलाया और फिर उसके बाद उसके पांच साथियों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। यही नहीं छात्रा ने अपने आरोपों में यह भी बताया था कि उस पर चाकू से कई वार किए गए । उसे बोरे में बंद कर रेलवे ट्रैक ले जाया गया । जहां घासलेट डालकर उसे जलाने की कोशिश की गई ।

इंदौर में पांच दोस्तों ने युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद बोरे में भरकर पटरी किनारे फेंका : पुलिस के उड़े गए होश

ऐसे जघन्य कांड की कहानी छात्रा ने क्यों गढ़ी और इसके पीछे इसका मकसद क्या था । इन तमाम सवालों से पुलिस भी बचती नजर आ रही थी। हालांकि पुलिस ने इस घटना को पूरी तरह फर्जी घटना जरूर बताया था । अब पुलिस ने झूठी कहानी गढ़ने वाली छात्रा के मंसूबे का खुलासा कर दिया है।

Powered by Blogger.