MP : अब सीएम हेल्पलाइन से मिलेंगे खसरा-खतौनी : लोक सेवा केंद्र जाने की नहीं पड़ेगी जरूरत

भोपाल। मध्य प्रदेश में अब खसरा और खतौनी के लिए किसानों को लोक सेवा केंद्र जाने की जरूरत नहीं पड़ेगा। सीएम हेल्पलाइन 181 के माध्यम से भी दस्तावेज मिल जाएंगे। गणतंत्र दिवस के पहले सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस नई सेवा की शुरुआत करेंगे।

इसमें दस्तावेज की मांग किए जाने पर संबंधित को ई-मेल या वाट्सएप पर ही निर्धारित शुल्क जमा करने पर यह सुविधा मिल जाएगी। इसके साथ ही लोक सेवा गारंटी कानून के तहत तय समयसीमा में अनुमति संबंधी सेवा उपलब्ध नहीं कराई जाती है तो अगले ही दिन पोर्टल से स्वत: जारी हो जाएगी।

प्रदेश में सुशासन के लिए सरकार नागरिकों को अधिकांश सुविधाएं निर्धारित समयसीमा में उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रही हैं। लोकसेवा गारंटी कानून के तहत नागरिकों को विभिन्न् तरह की अनुमतियां, प्रमाण पत्र आदि दिए जा रहे हैं। इस सेवा का अब और विस्तार किया जा रहा है।

स्थानीय निवासी और जाति प्रमाण पत्र के बाद अब सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से खसरा और खतौनी भी उपलब्ध होंगे। मुख्यमंत्री इस सेवा की शुरुआत सोमवार को करेंगे। खसरा-खतौनी चाहने वाले को सीएम हेल्पलाइन में मांग करनी होगी। राजस्व विभाग के अधिकारियों का कहना है कि निर्धारित शुल्क जमा करने पर संबंधित को सुविधा मिल जाएगी। इसके लिए लिंक भेजी जाएगी। यह सुविधा एक ही दिन में प्राप्त होगी। वहीं, जो अनुमतियां निर्धारित समयसीमा में नहीं दी जाएंगी, उसे पोर्टल स्वत: अगले दिन जारी कर देगा।

कलेक्टर और कमिश्नरों से संवाद करेंगे मुख्यमंत्री

लोक सेवा गारंटी कानून के 25 जनवरी को दस साल पूरे होने भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर और कमिश्नर से संवाद करेंगे। साथ उन अधिकारियों-कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने लोक सेवा एवं सुशासन के क्षेत्र में अच्छा काम किया है। निवाड़ी, ग्वालियर और झाबुआ जिले को लोक सेवा के क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य के लिए प्रमाण पत्र दिए जाएंगे।

Powered by Blogger.