CRPF जवान ने सहयोगी के नाम की सुपारी दे कराई हत्या : सहयोगी की पत्नी पर थी आरोपी की गन्दी नज़र : फिर जो हुआ ...



जितेंद्र कुमार नाम का आरोपी सीआरपीएफ कर्मी अपने सहयोगी दयानंद पासवान की पत्नी पर नजर गड़ाए हुए था और उसके साथ संबंध स्थापित करना चाहता था.

पटना: बिहार पुलिस ने सीआरपीएफ के जवान की हत्या के मामले में एक सीआरपीएफ के जवान सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसकी जानकारी एक अधिकारी ने दी. 23 दिसंबर को जहानाबाद जिले के लोदीपुर गांव के पास पटना-गया राज्य राजमार्ग पर दयानंद पासवान नाम के जवान की हत्या कर दी गई थी.

जहानाबाद की एसपी मीनू कुमारी ने कहा, "आरोपियों की पहचान करने के लिए कोई ठोस सबूत नहीं होने के कारण ये मामला अभी पेचीदा है. अथक प्रयासों से हम सीसीटीवी फुटेज हासिल करने में कामयाब रहे, जिसकी मदद से संदिग्धों को पकड़ा गया है." उन्होंने कहा, "हमने वैज्ञानिक रूप से सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण किया है और शूटरों की पहचान करने में कामयाब रहे. उस आधार पर, हमने पटना जिले के बख्तियारपुर शहर के नालंदा निवासी धनंजय नट और संतोष नट नामक दो शूटरों को गिरफ्तार किया है."

पूछताछ के बाद, उन्होंने मुख्य आरोपियों के नामों का खुलासा किया, जिन्होंने उन्हें पासवान को मारने की सुपारी दी थी. अधिकारी ने कहा, "जितेंद्र कुमार नाम का आरोपी सीआरपीएफ कर्मी अपने सहयोगी दयानंद पासवान की पत्नी पर नजर गड़ाए हुए था और उसके साथ संबंध स्थापित करना चाहता था. दयानंद का भतीजा लवकुश पासवान भी उसकी कैंटीन पर नजर गड़ाए हुए था. इसलिए, जितेंद्र और लवकुश दोनों मिलकर दयानंद के खिलाफ साजिश रच रहे थे. "

अधिकारी ने कहा कि धनंजय और संतोष ने उसे मारने के लिए 5 लाख की सुपारी ली थी. एसपी ने कहा, "आरोपियों से पूछताछ में अपराध में शामिल अन्य शूटरों के नाम सामने आए हैं. उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास जारी हैं. हमने उनके कब्जे से एक देसी कट्टा और तीन जिंदा कारतूस जब्त किए हैं."
Powered by Blogger.