MP : पार्टी के दौरान MBBS फर्स्ट इयर के छात्रों में हुआ विवाद, जमकर चले लात-घूंसे, हुई तोड़फोड़, 4 छात्र कैजुअल्टी में भर्ती, 16 निलंबित..



जबलपुर मेडिकल कॉलेज में MBBS फर्स्ट इयर के छात्रों में शनिवार देर रात आपस में जमकर लात-घूंसे चले। विवाद छात्रों की पार्टी के दौरान हुआ। पार्टी में भोजन और डांस भी चल रहा था। डांस के दौरान धक्का लगने पर विवाद गहराया। होस्टल नंबर एक व दो के छात्रों ने देर रात होस्टल नंबर तीन में घुस कर तोड़फोड़ कर दी। चार छात्रों को कैजुअल्टी में भर्ती कराना पड़ा। सुबह मेडिकल कॉलेज काउंसिल समिति ने अनुशासनहीनता पर 16 छात्रों को निलंबित कर दिया है। जांच के लिए सात सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई है।

पार्टी का हुआ था आयोजन

नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर पार्टी कर रहे थे। इसमें भोजन से लेकर जाम तक छलकाया गया। इसके बाद डांस भी चल रहा था। इसी में नशे में धुत छात्रों में मामूली कहासुनी ने बड़े विवाद का रूप ले लिया। बताते हैं, छात्र मौके पर ही आपस में गुत्थम-गुत्था हो गए। विवाद के बाद पार्टी समाप्त हो गई।

होस्टल में घुसकर मारपीट

होस्टल नंबर एक व दो के 16 छात्र देर रात होस्टल नंबर तीन में घुस गए। सभी बेसबॉल के डंडे लेकर पहुंचे थे। पहले इन छात्रों ने नीचे पार्किंग में खड़े दो पहिया वाहनों में तोड़फोड़ की। इसके बाद होस्टल के बाथरूम और शौचालय में तोड़फोड़ की। होस्टल के छात्र विरोध करने निकले, तो उनके साथ भी मारपीट की। मारपीट में शुभम डाबर, मोहित सोनी, अंकित जाट व राहुल अहिरवार को चोटें आई हैं। रात में चारों को कैजुअल्टी में भर्ती कराया गया।

पुलिस पहुंची तो मारपीट समाप्त हो चुका था

गढ़ा टीआई राकेश तिवारी ने बताया, देर रात होस्टल के छात्रों में आपस में विवाद की सूचना आई थी। पुलिस की टीम पहुंची, तो विवाद समाप्त हो चुका था। मौके पर कोई नहीं मिला। पता चला कि कुछ घायल छात्रों को कैजुअल्टी में भर्ती कराया गया है। वहां चारों घायल छात्रों का बयान लिया गया। चारों ने सुबह थाने पहुंच कर एफआईआर कराने की बात कही थी, पर रविवार दोपहर तक शिकायत दर्ज कराने नहीं पहुंचा।

सात सदस्यीय जांच कमेटी गठित

मेडिकल डीन डॉक्टर पीके कसार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए रविवार सुबह 11 बजे कॉलेज काउंसिल की बैठक बुलाई। निर्णय लिया गया कि शनिवार देर रात की घटना में 16 छात्रों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। छात्र शाखा के प्रभारी अधिकारी की अध्यक्षता में सात सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी को तीन दिन में रिपोर्ट देनी करनी है। डीन डॉक्टर कसार के मुताबिक रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई होगी

छात्रों के अभिभावकों को बुलाया गया

होस्टल छात्रों के कृत्य से डीन डॉक्टर पीके कसार खासे नाराज हैं। उन्होंने सभी 16 छात्रों के अभिभावकों को मैसेज भेजकर तीन दिन के अंदर कॉलेज में उपस्थित होने के लिए कहा है। जूनियर डॉक्टरों की मारपीट संबंधी वीडियो और फोटोग्राफ भी कमेटी को उपलब्ध कराए गए हैं। कमेटी चारों घायल छात्रों के भी बयान दर्ज करेगी। आरोपी छात्र होस्टल छोड़कर फरार हैं।

दोगुना जुर्माना वसूला जाएगा

डीन डॉक्टर कसार ने बताया, छात्रों द्वारा होस्टलों में की गई तोड़फोड़ में हुए नुकसान का आंकलन कराया जा रहा है। इसके लिए लोक निर्माण विभाग और महाविद्यालय के वर्कशॉप को पत्र लिखा गया है। नुकसान का वास्तविक आंकलन होने पर दोषी छात्रों से दोगुनी राशि जुर्माना के रूप में वसूल की जाएगी। इस तरह की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं करेंगे।
Powered by Blogger.