LIVE MURDER : दिनदहाड़े दो बाइक सवार पर आए 6 बदमाशों ने बरसाईं दनादन गोलियां, रिटायर्ड टीचर समेत 4 की मौत

नामी बदमाश अजय जैतपुरा की कोर्ट में हत्या के तीन साल बाद गांव ढाणी मौजी में शुक्रवार दोपहर गैंगवार हुई, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई। इस बार अजय जैतपुरा की गैंग संभाल रहे प्रदीप जैतपुरा पर फायरिंग की गई थी। दो बाइक पर आए छह बदमाशों की ताबड़तोड़ फायरिंग में प्रदीप के साथ-साथ दो गांववालों की भी मौत हो गई। इनमें से एक 70 साल के रिटायर्ड शिक्षक थे। वहीं, हमलावरों में से एक का शव घटनास्थल से करीब एक किमी दूर बींजावास के रास्ते पर पड़ा मिला, वहीं एक हमलावर दो किमी दूर जोहड़ी में घायलावस्था में मिला।

दिनदहाड़े हुई इस वारदात में बदमाशों को रोकने की कोशिश में कुछ ग्रामीण भी घायल हुए हैं। घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। उन्होंने मौके पर पहुंचे पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को खूब खरी-खोटी भी सुनाई। ग्रामीणों ने हमीरवास थाना के पूरे स्टाफ को सस्पेंड करने, मृतकों के परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग की है। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक हमलावरों को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तब तक शव नहीं उठाने दिया जाएगा। देर रात तक मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

कलेक्टर सांवरमल वर्मा और एसपी नारायण टोगस भी ढाणी मौजी पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण कर डीएसपी बृजमोहन असवाल और राजगढ़ थानाधिकारी गुर भूपेंद्रसिंह से जानकारी ली। एसपी ने बताया कि उक्त वारदात संपत नेहरा गैंग से जुड़े बदमाशों द्वारा की गई है। वारदात के बाद चौतरफा नाकाबंदी करवाकर पुलिस टीमें अलग-अलग इलाकों में भेजकर उनकी तलाश की जा रही है। ये वही संपत गैंग है, जिस पर अजय की हत्या करने का भी संदेह है। उस मामले में प्रदीप हत्या का गवाह था। 8 जनवरी को ही उसकी सुरक्षा हटाई गई थी।

दहशत की कहानी प्रत्यक्षदर्शी की जुबानी; गांव ढाणी मौजी में एक घर के बाहर चबूतरे पर ताश खेल रहा था प्रदीप, पिस्टल लहराते हुए आए बदमाश और खून से सन गईं सड़कें

ट्टसुल्तान नाई के घर के बाहर चबूतरे पर गांव के लोग हमेशा ताश खेलते हैं। शुक्रवार शाम को भी प्रदीप स्वामी, निहालसिंह सरावग, ईश्वरसिंह नाई और द्वारकाप्रसाद गोस्वामी ताश खेल रहे थे। शाम 3.20 बजे दो बाइकों पर पांच से छह बदमाश आए और प्रदीप को मारने की नीयत से अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। प्रदीप ने भागने की भी कोशिश की, लेकिन हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर उसकी हत्या कर दी। वहीं, निहालसिंह और ईश्वरसिंह की भी हत्या कर दी गई। द्वारकाप्रसाद घायल हो गया। बदमाश जब फायरिंग करके भागने लगे तो घटना से थोड़ी दूर संजय पूनिया ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो उसे भी बदमाशों ने फायरिंग कर घायल कर दिया। निहालसिंह सरावग (70) रिटायर्ड प्रधानाध्यापक थे। ईश्वरसिंह नाई (55) खेतीबाड़ी करते थे। घायल द्वारकाप्रसाद भी रिटायर्ड अध्यापक हैं। गांव में महिलाएं और बच्चे बहुत डरे हुए हैं। पुलिस भी वक्त पर नहीं पहुंची।

जैसा मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया

वजह...गैंगस्टर अजय की हत्या का गवाह था प्रदीप, 8 जनवरी को ही उसकी सुरक्षा में लगे सिपाही हटे थे

कोर्ट परिसर में 17 जनवरी 2018 को हुए अजय जैतपुरा के मर्डर के मामले में प्रदीप स्वामी गवाह था। संपत नेहरा गैंग से धमकी मिलने के बाद उसे सुरक्षा प्रदान की गई थी। दो सिपाही लगाए गए थे। सुरक्षा गत 8 जनवरी को हटा ली गई थी। एसपी ने बताया कि प्रदीप स्वामी के हत्या के मामले में नामजद होने के कारण उसकी सुरक्षा हटाई गई थी।

शिनाख्त...दूसरी बाइक स्टार्ट नहीं हुई तो वे पैदल ही भाग निकले, मृतक हमलावर का आधार कार्ड मिला

ग्रामीणों ने बताया कि फायरिंग के बाद कुछ बदमाश बाइक पर सवार होकर भागने लगे, वहीं दूसरी बाइक स्टार्ट नहीं होने पर कुछ पैदल भागने लगे। ग्रामीणों ने जब पीछा किया, तो बदमाशों ने हवाई फायर भी किए। वहीं, मृत मिले हमलावर के पास आधार कार्ड मिला है, जिसकी पुलिस छानबीन कर रही है। जेब से 5-6 कारतूस व 3500 रु. भी मिले हैं।

राठौड़ ने कहा- प्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर बेहद खराब

ट्टप्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बेहद खराब है। अपराधी सरेआम वारदात कर रहे हैं। भ्रष्टाचार-रिश्वतखोरी पर भी लगाम नहीं। जनता त्रस्त है। सरकार गंभीर कदम उठाए।

राजेंद्र राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष


लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए REWA NEWS MEDIA फेसबुक पेज लाइक करें

Powered by Blogger.