REWA : समाधान आनलाइन के एजेंडा बिन्दुओं पर तत्परता से करें कार्यवाही : कलेक्टर

Telegram

रीवा। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आगामी माह के प्रथम सप्ताह में आयोजित समाधान कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसमें वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निर्धारित एजेंडा बिन्दुओं के सीएम हेल्पलाइन के लंबित आवेदन पत्रों पर सुनवाई करेंगे।

आगामी समाधान आनलाइन कार्यक्रम में 7 विभागों के एजेंडा बिन्दु निर्धारित किए गण् हैं। इनमें भूमि पर अतिक्रमण तथा अवैध कब्जा, बिजली बिलों में गड़बड़ी, प्राकृतिक प्रकोप में आर्थिक सहायता के प्रकरण तथा नगरीय क्षेत्र में अवैध कालोनी एवं भवनों के संबंध में लंबित प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी। बैठक में गेंहू उपार्जन की तैयारियों तथा लंबित भुगतान, एफआईआर दर्ज करने संबंधी प्रकरणों, खनिजों के अवैध उत्खनन तथा परिवहन से संबंधित प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी। बैठक में सीएम हेल्पलाइन के तीन सौ दिनों से अधिक समय से लंबित सभी विभागों के प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी।

कलेक्टर ने कहा है कि सभी संबंधित अधिकारी सीएम हेल्पलाइन में निर्धारित एजेंडा बिन्दुओं से संबंधित सभी प्रकरणों पर एक सप्ताह में तत्परता से कार्रवाई करके प्रकरणों का निर्माण करें। सभी जिला स्तरीय अधिकारी प्रतिदिन सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण करे यदि किसी अधिकारी की लापरवाही से प्रकरण लंबित रह गया तो कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। सभी संबंधित अधिकारियों को एजेंडा बिन्दुओं की जानकारी प्रेषित की गई है। सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का संतुष्टि पूर्वक निराकरण करने का प्रयास करें।

समर्थन मूल्य में गेंहू खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन 25 फरवरी तक

रीवा। किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य देने के लिए शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीद की जाती है। समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन 25 जनवरी से आरंभ हो गया है। पंजीयन की अंतिम तिथि 25 फरवरी निर्धारित की गई है।

पंजीयन सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक सभी शासकीय कार्य दिवसों में निर्धारित खरीदी केंद्रों में किया जाएगा। किसान एमपी किसान एप, ई-उपार्जन पोर्टल तथा ई-उपार्जन मोबाइल एप पर भी अपना पंजीयन करा सकते हैं। इस संबंध में जिला आपूर्ति नियंत्रक एमएनएच खान ने बताया कि सभी किसान निर्धारित खरीदी केंद्रों में अपना आनलाइन पंजीयन अवश्य कराए। पंजीकृत किसानों से ही समर्थन मूल्य पर गेंहू की खरीद की जाएगी। उन्होंने बताया कि किसान पंजीयन कराने के लिए खरीदी केंद्रों में अपने ऋण पुस्तिका की प्रति, बैंक पास बुक की प्रति, समग्र आईडी, आधार कार्ड तथा मोबाइल नंबर की जानकारी उपलब्ध कराए। जिस खसरा नम्बर में गेंहू बोया गया है उसकी जानकारी अनिवार्य रूप से दें। किसान द्वारा दिए गए गेंहू के बोये गए क्षेत्रफल के अनुसार ही खरीदी की जाएगी। गेंहू खरीदी के लिए पंजीकृत किसान भी बोये गए क्षेत्रफल की जानकारी देकर पंजीयन में संशोधन करा सकते हैं। पंजीयन कराते समय सभी किसान केवल राष्ट्रीयकृत बैंक अथवा जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक का ही खाता नम्बर दें। जिससे आनलाइन भुगतान समय पर किया जा सके। जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि पंजीयन के बाद गेंहू के क्षेत्रफल का सत्यापन आयुक्त भू अभिलेख की वेबसाइट एवं गिरदावरी एप के माध्यम से की जाएगी। सत्यापित रकबे के अनुसार ही गेंहू की खरीद की जाएगी। किसानों का पंजीयन तथा पंजीयन में संशोधन निःशुल्क किया जाएगा। सिकमीदार-बटाईदार तथा वनाधिकार पट टेधारी किसानों का पंजीयन भी सहकारी समितियों एवं खरीदी केंद्रों में किया जाएगा।

Powered by Blogger.