REWA : सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सी.टी. के माध्यम से की गई कोरोनरी एजियोग्राफी

Telegram

      

सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल ह्मदय रोगियों के लिये जीवनदायक सिद्ध हुआ है। यहां चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा ह्मदय रोगियों की एजियोग्राफी की जाने लगी है। आज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के रेडियोलॉजी विभाग द्वारा सी. टी. के माध्यम से कोरोनरी एजियोग्राफी की गई। सी.टी. कोरोनरी एजियोग्राफी वह पद्धति है , जिसके द्वारा सी. टी. के माध्यम से ह्मदय रोगी पीडित मरीज के ह्मदय में होने वाले ब्लॉकेज को बिना किसी शल्य क्रिया ( चीड़ - फाड़ ) के ब्लॉकेज को देखा जा सकता है। अस्पताल में आये सबधित मरीज को विगत 15 दिनों से छाती में दर्द की शिकायत थी, जिसका उपचार डॉ . व्ही. डी. त्रिपाठी विभागाध्यक्ष कार्डियोलॉजी विभाग के मार्गदर्शन में चल रहा है।

विंध्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल संजय गाँधी चार मंजिला अस्पताल में 11 साल से बंद पड़ी 7 लिफ्ट, कागजी प्रक्रिया में जुटा अस्प्ताल प्रबंधन

डॉ. अक्षय श्रीवास्तव अधीक्षक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल ने बताया कि मरीज के दिल की जांच केवल दवाई डालकर बिना चीरा या ऑपरेशन के की गई है , जिससे उसकी दिल की धमनियों का अवरोध पता चल सके । विंध्य क्षेत्र में ये जाच सर्वप्रथम सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में संचालित अत्याधुनिक सी. टी. स्कैन (128 स्लाईस ) से ही संभव है तथा सी.टी. कोरोनरी एंजियोग्राफी प्रोसिजर द्वारा भविष्य में बिना किसी शल्य किया के मरीजों को परीक्षण कर उच्च स्तरीय उपचार दिया जाना अपेक्षित रहेगा। डॉ. सुदीप्त द्विवेदी रेडियोलॉजिस्ट द्वारा बताया गया है कि इस जाच में दिल के मरीजो का बेहतर ईलाज संभव है एवं अभी तक सीटी स्कैन मशीन द्वारा 100 से अधिक मरीजों का परीक्षण किया जा चुका है।

Powered by Blogger.