REWA : संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन हुए सेवानिवृत्ति, बोले - रीवा के लोग अच्छे व जागरूक हैं, यहां का कार्यकाल नहीं भूलेगा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा. कमिश्नर कार्यालय में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन को सेवानिवृत्ति के अवसर पर भावभीनी विदाई दी गई। जैन फरवरी माह की अंतिम तिथि को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इस अवसर पर जैन ने कहा कि रीवा के लोग अच्छे और जागरूक हैं। यहां का कार्यकाल मेरे लिए अविस्मरणीय रहेगा। यहां शासकीय कार्य करते हुए कई अच्छे अनुभव हुए। शासकीय सेवा में जो सुख और संतुष्टि रीवा में मिली वह कहीं और नहीं है।

फ्रंट लाइन वर्कर्स ने शानदार प्रदर्शन किया

कमिश्नर ने कहा कि रीवा के किसान और अधिवक्ता भी बड़े जागरूक हैं। यहां के अधिकारी और कर्मचारी बहुत मेहनती तथा लगन से कार्य करने वाले हैं। कोरोना के संकटकाल में संभाग के सभी जिलों में डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स ने शानदार कार्य किया। रीवा संभाग की प्रदेश स्तर पर सदैव तारीफ होती रही। कमिश्नर कार्यालय के अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने भी मेरे कार्यकाल में बहुत अच्छा कार्य किया। मैने भी सकारात्मक दृष्टिकोण से तथा बिना किसी पक्षपात के कार्य करने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि भोपाल तथा अन्य जिलों में रीवा की जो छवि बनाकर रखी गई है यहां उस तरह की स्थितियां नहीं हैं। मुझे भी रीवा पदस्थापना होने पर कुछ डर था लेकिन यहां आने के बाद रीवा के संबंध में बनी नकारात्मक छवि पूरी तरह से दूर हो गई। रीवा जैसे जागरूक आमजन शायद ही किसी और जिले में हों।

राजस्वं का कार्य चुनौती पूर्ण होता है-तरुण

समारोह में अपर कमिश्नर तरूण भटनागर ने कहा कि रीवा में राजस्व विभाग का कार्य चुनौती पूर्ण होता है। कमिश्नर सर ने अपने अनुभव तथा राजस्व के नियमों-निर्देशों के गहन ज्ञान के कारण हर कार्य को बड़ी सरलता से अंजाम दिया। आपने वर्षों से लंबित 150 से अधिक विभागीय जांच तथा अन्य प्रकरणों का निराकरण करके संभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को बड़ी राहत दी। कमिश्नर सर की तरह नियमों के जानकार तथा प्रशासनिक कौशल वाले अधिकारी विरले होते हैं।

कार्यकाल भले ही छोटा लेकिन, मार्गदर्शन से गहरी छाप छोड़ी

उप संचालक सतीश निगम ने कहा कि कमिश्नर सर का कार्यकाल भले ही छोटा रहा हो लेकिन आपने अपने ज्ञान और मार्गदर्शन से गहरी छाप छोड़ी है। आपके निर्णयों की वकील तथा आमजन दोनों तारीफ करते हैं। समारोह में डिप्टी कमिश्नर आबकारी राघवेन्द्र उपाध्याय ने गीत के माध्यम से अपनी भावनायें व्यक्त की। समारोह में आरपी उपाध्याय ने कविता के माध्यम से भावपूर्ण विदाई दी। कार्यक्रम का संचालन करते हुए स्टेनो अवनीश शर्मा ने कमिश्नर जैन के व्यक्तित्व और कृतित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला।

Powered by Blogger.