REWA : तीसरा चरण आरंभ : बुजुर्गों तथा गंभीर रोग से पीडि़तों का कोरोना टीकाकरण एक मार्च से शुरू : कलेक्टर

Telegram

रीवा जिले के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में एक मार्च से कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण आरंभ हो रहा है। इस चरण में एक फरवरी 2021 को 60 वर्ष या उससे अधिक आयु पूरी कर चुके व्यक्तियों एवं गंभीर रोगों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को कोरोना के टीके लगेंगे। अभियान की तैयारी बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि एक मार्च से शुरू हो रहा टीकाकरण अभियान बहुत बृहद है। इसके लिए पूरी कार्य योजना बनाकर ग्राम पंचायतवार तथा शहरी क्षेत्रों में वार्डवार टीकाकरण कराना होगा। इसके लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं आयुक्त नगर निगम के साथ मिलकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्य योजना तैयार करें। इस चरण में कोरोना टीकाकरण से छूटे हुए सभी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों, महिला एवं बाल विकास के कर्मचारियों तथा सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीके लगाये जायेंगे। छूटे हुये सभी अधिकारी तथा कर्मचारी अनिवार्य रूप टीके लगायें। गर्भवती महिलाओं तथा नवजात शिशु को 6 माह तक दूध पिलाने वाली महिलाओं को छोड़कर शेष सभी छूटे हुए हेल्थ एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स अनिवार्य रूप से टीके लगायें।

 कलेक्टर ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित तथा कारगर है। इसे जब स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी बढ़-चढ़कर लगवायेंगे तो आमजनता में अच्छा संदेश जायेगा। कोरोना वैक्सीन टीकाकरण के लिए हमें विशेष प्रयास करने होंगे। इसके पंजीयन तथा टीकाकरण प्रमाण पत्र प्राप्त करने के संबंध में पूरी प्रक्रिया की जानकारी दें। इसी चरण में उन सभी व्यक्तियों को कोरोना की दूसरी डोज दी जायेगी। जिन्हें प्रथम तथा द्वितीय चरण में पहली डोज दी जा चुकी है। टीकाकरण का व्यापक प्रचार-प्रसार करायें जिससे इसके संबंध में फैलाई जा रही भ्रांतियों को दूर किया जा सके। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टीकाकरण के लिए शासन द्वारा निर्धारित प्रोटोकाल के अनुसार सभी टीकाकरण केन्द्र में व्यवस्थायें करायें। बैठक में पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह ने कहा कि पुलिस, एसएएफ तथा होमगार्ड के छूटे हुए कर्मचारियों का शत-प्रतिशत टीकाकरण कराया जायेगा। इस संबंध में निर्देश जारी किये जा रहे हैं।

 बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. बीके अग्निहोत्री ने बताया कि एक मार्च से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के लिए जिला अस्पताल तथा मेडिकल कालेज में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं। सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी टीकाकरण किया जायेगा। कोविन-2 अथवा आरोग्य सेतु एप पर पंजीयन कराया जा सकता है। टीकाकरण केन्द्र में भी पंजीयन की सुविधा रहेगी। जो हेल्थ तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स टीकाकरण से छूटे गये हैं वे अपने विभागीय पहचान पत्र तथा आधार कार्ड के साथ टीकाकरण केन्द्र में आ कर तत्काल पंजीयन कराकर टीके लगवा सकते हैं। इस चरण में 20 चिन्हित गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक व्यक्तियों को टीके लगाये जायेंगे। इनमें डायविटीज, बेडप्रेसर, कैंसर, किटनी प्रत्यारोपण, ह्मदय प्रत्यारोपण, एड्स पीडि़त जैसे रोगी शामिल हैं। यदि किसी व्यक्ति को किसी दवा से साइडडिफेक्ट है तो इसकी जानकारी टीका लगाने से पूर्व डॉक्टर को दें। जिन व्यक्तियों को अब तक टीके लगे हैं वह अपने परिवार के बुजुर्गों को तीसरे चरण में आवश्य लगवायें। इस चरण में शासकीय अस्पतालों के साथ प्राइवेट अस्पतालों में भी टीकाकरण की भी सुविधा रहेगी जो बुजुर्ग भीड़-भाड़ से बचना चाहते हैं तो अपने टीकाकरण का स्थान तथा समय निर्धारित करके टीकाकरण करा सकते हैं।

बैठक में कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास को उनके विभाग के छूटे हुए अधिकारी एवं कर्मचारियों को शत- प्रतिशत टीकाकरण कराने के निर्देश दिये। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएल गुप्ता, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्रीमती प्रतिभा पाण्डेय सभी बीएमओ तथा परियोजना अधिकारी उपस्थित रहे।  

Powered by Blogger.