ALERT : बड़ी लापरवाही के चलते संकट में पड़ा इंदौर शहर लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर। इंदौर शहर में लोगों की बेपरवाही अब कोरोना के नए संकट रूप में बढ़ रही है। रविवार को कोरोना संदिग्ध 2014 मरीजों के सैंपल जांचे गए, जिसमें से 259 मरीज पॉजिटिव आए। रविवार देर रात जारी बुलेटिन के मुताबिक अब तक 866555 सैंपलों की जांच की जा चुकी है इनमें से 62411 पाजिटिव पाए गए। रविवार को 201 मरीज हास्पिटल से डिस्चार्ज किए गए। अब तक स्वस्थ होकर घर जाने वालों की संख्या 59782 है। फिलहाल 1686 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज विभिन्न् अस्पतालों में चल रहा है। रविवार को संक्रमण से एक की जान गई। अब तक कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 943 हो चुकी है।

यूके स्ट्रेन की जांच के लिए दिल्ली भेजे 104 सैंपल

वायरस के यूके स्ट्रेन की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को 104 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे हैं। इससे पहले दो बार सैंपल भेजे जा चुके हैं। शहर में छह लोगों में यूके स्ट्रेन की जानकारी मिलने के बाद 99 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें से नौ सैंपल खारिज हो गए थे। बाकी 90 सैंपलों की रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। इसके बाद 11 मार्च को भी 117 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए थे। इनकी भी रिपोर्ट नहीं आई है। रविवार को 104 सैंपल भेजे गए। रिपोर्ट के आधार पर यह पता लगाया जाएगा कि शहर में यूके स्ट्रेन के कारण संक्रमण तो नहीं बढ़ रहा है।

महू में रिटायर्ड सैन्य अधिकारी सहित तीन की मौत

तहसील में कोरोना संक्रमितों की संख्या एक बार फिर बढ़ रही है। रविवार को दस नए संक्रमित सामने आए। कई संक्रमितों का इलाज इंदौर में जारी है। महू में 39 सक्रिय केस हैं। तीन संक्रमितों की मौत की खबर है। इनमें एक रिटायर्ड सैन्य अधिकारी भी शामिल हैं। सैन्य अधिकारी की पत्नी भी संक्रमित है और उनका इलाज चल रहा है। जिस कॉलोनी में ये अधिकारी रहते थे वहां की सोसायटी के अध्यक्ष भी थे। सोसायटी में कुछ और लोग भी संक्रमित हुए हैं। कॉलोनी के रहवासियों ने इसकी पुष्टि की है। महू के किशनगंज क्षेत्र में एक संक्रमित की मौत की खबर है। इसके अलावा दतौदा निवासी एक व्यक्ति की मौत भी संक्रमित होने से हुई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कैलेंडर में केवल एक मौत अब तक दर्शाई गई है। महू में अब तक कुल 79 लोगों की मौत दर्ज हो चुकी है।

10 महीने में 73 हजार से ज्यादा लोगों पर किया स्पाट फाइन

इंदौर नगर निगम ने कोरोना की रोकथाम के लिए जून-2020 से अब तक कोरोना प्रोटोकाल नहीं मानने वाले 73 हजार से ज्यादा लोगों पर स्पाट फाइन की कार्रवाई की है। इन लोगों से 96 लाख रुपये से ज्यादा का दंड वसूला जा चुका है। अकेले मार्च में अब तक नौ हजार से ज्यादा पर स्पाट फाइन करके 4.65 लाख रुपये का दंड वसूला है। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 68791 लोगों पर मास्क नहीं पहनने, 4331 लोगों पर शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने, 407 संस्थानों व प्रतिष्ठानों पर सैनिटाइजर नहीं रखने के कारण दंडात्मक कार्रवाई की गई। आयुक्त ने बताया कि एक से 13 मार्च तक निगम के स्वास्थ्य अधिकारी, सहायक राजस्व अधिकारी, सीएसआइ, दरोगा और अन्य अफसरों ने 9183 लोगों पर चालानी कार्रवाई करते हुए 4.65 लाख रुपये का दंड वसूला है।

लगातार जागरूकता बढ़ाने के प्रयास

निगम ने शहर में कोरोना जागरूकता बढ़ाने के लिए एक लाख से ज्यादा पर्चे बंटवाए हैं, जिनमें कोरोना से बचाव के तरीकों का विस्तार से विवरण है। शनिवार से शहर में 25 आटो रिक्शा को भी जागरूकता बढ़ाने के काम में लगाया गया है। रिक्शा के माध्यम से लगातार भीड़भरे बाजारों, प्रमुख सड़कों और चौराहों आदि पर अनाउंसमेंट कराया जा रहा है कि लोग अनिवार्य रूप से मास्क पहनें, दूसरों से शारीरिक दूरी रखें, बार-बार हाथ धोते रहें।


ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या गूगल न्यूज़ या ट्विटर पर फॉलो करें. www.rewanewsmedia.com पर विस्तार से पढ़ें  मध्यप्रदेश  छत्तीसगढ़ और अन्य ताजा-तरीन खबरें

विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें  7694943182, 6262171534

Powered by Blogger.