REWA : कॉलेज चौराहे के पास फुटपाथ पर ऑनलाइन काम करने वाले युवाओं को हटाया, बेरोजगार युवक पहुंचे विधायक राजेन्द्र शुक्ल के घर

Telegram

रीवा. शहर में फुटपाथ पर अतिक्रमणकारियों को हटाया जाएगा। अभियान के दौरान कॉलेज चौराहे के आस-पास एरिया में फुटपाथ पर ऑनलाइन काम करने वाले युवाओं को भी हटा दिया गया। जिससे लामबंद बेरोजगार विधायक राजेन्द्र शुक्ल के घर पहुंच गए। सुबह सात बजे से लेकर 11 बजे विधायक से मिलने के इंतजार में बैठे रहे। विधायक 11.10 बजे कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए बाहर निकले तो युवाओं ने आवेदन देकर कहा, विधायक जी अस्थाई रोजगार करते हैं। प्रशासन ने हटा दिया। ऐसे में सैकड़ो युवा बेरोजगार हो जाएंगे। फुटपाथ पर एमपी ऑनलाइन के तहत आवेदन कराने के लिए कालेज खुलने के समय तक कालेज के सामने फुटपाथ पर काउंटर लगाने के लिए छूट दी जाए। युवाओं की बड़ी संख्या देख विधायक फौरन कलेक्टर इलैयाराजा टी से फोन पर बात की। इस दौरान विधायक के आश्वासन पर बेरोजगार वापस लौटे।

 

कालेज चौराहे के आसपास फुटपाथ पर अस्थाई रोजगार

शहर के कालेज चौराहे पर टीआरएस कालेज, आकाशवाणी केन्द्र, विवेकानंद पार्क के सामने सहित आस-पास एरिया में फुटपाथ पर एमपी ऑनलाइन के तहत लैपटॉप लेकर दर्जनों की संख्या में बेरोजगार काउंटर लगाकर अस्थाई रोजगार कर रहे हैं। ऐसे युवाओं को अतिक्रमण अभियान के दौरान हटा दिया गया। निगम अधिकारियों ने फुटपाथ पर अस्थाई रोजगार करने वालों को चेतावनी दी कि फुटपाथ पर अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बेरोजगारों के काउंटर हटवा दिए गए। जिससे युवा लामबंद होकर रविवार की सुबह सात बजे विधायक राजेन्द्र शुक्ल के आवास पर पहुंच गए। विधायक करीब साढ़े तीन घंटे के बाद बाहर निकले तो युवाओं ने समस्याएं बताई। विधायक बेरोजगारों की समस्या को गंभीरता से लेते हुए फौरन कलेक्टर से फोन पर बात की। विधायक ने कलेक्टर से अस्थाई व्यवस्था बनाने के लिए भी कहा।

विधायक के मोबाइल पर कलेक्टर ने दिया आश्वासन

विधायक ने मोबाइल का लाउड स्पीकर ओपेन कर बेरोजगारों को कलेक्टर के आश्वासन को भी सुनाया। कलेक्टर ने विधायक के मोबाइल के जरिए बेरोजगारों को कहा है कि स्थाई गुमटी आदि पर प्रतिबंध है। अस्थाई तौर पर कालेज खुलने के समय तक काउंटर आदि को व्यवस्थित तरीके से रखकर काम करें। इस पर आपत्ति नहीं है। आपत्ति ऐसे लोगों पर है जो वहां पर स्थाई अतिक्रमण कर निर्माण करा रहे हैं। जगह-जगह गुमटियां रखकर अतिक्रमण कर रहे हैं। विधायक ने कहा कि ऐसे लोगों के लिए भी प्लान किया जाए। इस दौरान विधायक ने कालेज चौराहा और सिरमौर चौराहा के बीच खाली जमीन पर अस्थाई व्यवस्था करने का भी निर्देश दिए। विधायक के आश्वासन पर बेरोजगार युवा वापस लौटे।

शहर में फुटपाथ पर व्यापारियों का अतिक्रमण

शहर में प्रमुख चौराहे सहित बाजार में व्यापारियों के द्वारा फुटपाथ तक दुकानें सजाई गई हैं। सुबह सडक़ें चौड़ी दिखती हैं। शाम को वही सडक़ें सकरी हो जाती हैं। बताया गया कि शहर में अधिकांश व्यापारी सडक़ तक दुकानें पर सामग्री फैला देते हैं। जिससे राहगीरों का चलना मुश्किल हो जाता है। शहर में सबसे खराब स्थित सिरमौर चौराहा से अमहिया, धोबिया टंकी से अस्पताल चौराहा होते हुए प्रकाश चौराहा, घोड़ा चौराहा से लेकर जयस्तंभ तक सबसे अधिक स्थित खराब रहती है। इसके अलावा किला मार्ग, सब्जी मंडी, गुढहाई बाजार आदि मार्गों पर जाम की स्थित बनी रहती है। इसी तरह सिरमौर चौराहे से यूनिवर्सिटी रोड पर सुभाष तिराहे तक फुटपाथ पर वाहन समेत अन्य सामग्रियों के चलते जाम की स्थित बनी रहती है।

Powered by Blogger.