REWA : साहब, जेल तो भेज रहे हो अब तो बता दो मृतक का नाम

Telegram

रीवा । साहब, हत्या के मामले में जेल तो भेज रहे हो, भेजने के पहले मृतक का नाम तो बता दो। उक्त बातें कोई और नहीं बल्कि हत्या के आरोप में पकड़ा गया युवक करण सोंधिया पुत्र रामसखा सोंधिया उम्र 22 वर्ष निवासी हटवा सीधी हाल मुकाम झांझरा थाना विश्वविद्यालय पुलिस से पूछ रहा था। जी हां, उक्त खुलासा अमहिया पुलिस ने किया है। पुलिस ने एक अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने का न केवल दावा किया है, बल्कि आरोपी को पकड़ कर सलाखों के पीछे कर दिया है। पूरे मामले में दिलचस्प पहलू यह रहा कि अब तक मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस ने 302 का मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना शुरू कर दी और पुलिस ने हत्या के आरोप में एक युवक को पकड़कर सलाखों के पीछे कर कर दिया है।

क्या था मामला

गत 6 व 7 फरवरी के दरमियानी रात एक 42 वर्षीय अज्ञात युवक का शव अमहिया नाले के समीप मिला था। जिसे पुलिस पहले सामान्य मौत मान रही थी, हालांकि पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने मामले की विवेचना शुरू की और मामला मर्ग से बदलकर हत्या में तब्दील हो गया। पुलिस ने विवेचना शुरू की तो शुरुआती समय में एक बार फिर पुलिस मर्ग ही मान रही थी। लेकिन सीसी टीवी फुटेज ने पुलिस को अहम सुराग दे दिया और पुलिस आरोपित पहुंच गई।

बात बात में हत्या

पुलिस गिरफ्त में आए युवक ने अपने बयान में पुलिस को बताया है कि वह रात के समय शराब के नशे में अपने घर जा रहा था सिरमौर चौराहा के समीप उसे मृतक ने धक्का मार दिया जिस पर उसने मृतक को बुड्ढा कह कर संबोधित किया। उक्त बात मृतक को नागवार गुजरी उसने एक घुसा आरोपित को जड़ दिया। जिससे नाराज होकर आरोपित ने पत्थर उठाकर मृतक पर कई वार किया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई वारदात को अंजाम देने के बाद युवक अपने घर चला गया था।

इनका कहना है : मृतक की पहचान नहीं हो सकी है, हालांकि हमने हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है आरोपित ने अपना गुनाह कबूल भी कर लिया है। जिसे न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने आरोपित को जेल भेज दिया है।

प्रतिभा शर्मा, सीएसपी रीवा।

Powered by Blogger.