REWA : विवेक तिवारी 'बाबला' का पार्थिव शरीर पहुंचा दिल्ली से रीवा : अंतिम दर्शन के लिए उमड़ा भारी जनसैलाब

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा .श्रीनिवास तिवारी के पौत्र डॉ विवेक तिवारी 'बाबला' का 46 साल की उम्र में शनिवार को दिल्ली के बीएलके अस्पताल में उपचार दौरान सुबह लगभग साढ़े 10 बजे निधन हो गया। रविवार सुबह करीब 1 बजे उनका शव एयर एम्बुलेंस से दिल्ली से रवाना कर दिया गया था। विवेक तिवारी का शव रीवा के चोरहटा हवाई पट्टी में पहुंचते ही जनसैलाब उमड़ गया था. 

     

उन्हें लीवर में इंफेशन की शिकायत पर पहले रीवा के विंध्या अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सुधार न होने पर उन्हें बीएलके अस्पताल नई दिल्ली उपचार के लिए ले जाया गया। जहां 24 दिनों तक चले उपचार के बाद स्वास्थ्य में सुधार नहीं हो पाया।

      

उनके करीबी लोगों से मिली जानकारी अनुसार लीवर ट्रांसप्लांट की तैयारी थी। लेकिन वैधानिक औपचारिकताओं में लग रहे समय का विवेक तिवारी ने इंतजार नहीं किया और महाप्रयाण कर गए। विवेक तिवारी के निधन की समाचार सुनते ही पूरे जिले में शोक की लहर दौड़ गई। पार्थिव शरीर दिल्ली से रीवा पहुंचने पर उनके चाहने वालो की भीड़ उमड़ गई. उनका अंतिम दर्शन पाने के लिए लोग चोरहटा से अमहिया तक पहुंचे। आज दुःख की इस घडी में आपको हम कुछ तस्वीर दिखाने जा रहे है. 

Powered by Blogger.