REWA : रतहरी तालाब को पुनर्जीवित कर जलभराव कराएं : शिव सिंह

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। जल जंगल जमीन बचाओ मोर्चा के संयोजक शिव सिंह एडवोकेट एवं समाजसेवी विश्वनाथ पटेल चोटीवाला ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि जिले के रतहरी रघुराज सागर सहित 1545 राजस्व अभिलेखों में दर्ज बंदोबस्ती तालाबों को भू-माफियाओं ने प्रभावित करने का काम किया है।

जिसमें सैकड़ों बंदोबस्ती तालाबों को नष्ट कर अवैध निर्माण किए गए रतहरी तालाब इसका जीता जागता उदाहरण है । जिसमे वार्ड क्रमांक 15 रतहरी तालाब की आराजी नंबर 217, 218 कुल रकवा 9.37 एकड़ जो राजस्व रिकार्डों में तालाब भीटा के रूप मे दर्ज है। उक्त तालाब को अल्पआय वर्ग सोसायटी ने कई लोगों को विक्रय कर दिया।

जहां बिना नगर पालिक निगम रीवा की अनुमति एवं स्टेट इंस्टीट्यूट फॉर टाउन प्लानिंग के बगैर अनुशंसा के भवन निर्माण कराए जा रहे हैं। जिसकी शिकायत कई बार मुख्यमंत्री, जिला कलेक्टर, संभागीय कमिश्नर, नगर निगम आयुक्त रीवा से की गई थी। समाजसेवी विश्वनाथ पटेल चोटीवाला ने 15 दिनों से अधिक अर्थी बनाकर तपतपाती धूप में अनशन किया था। लेकिन प्रशासन ने कोई कार्रवाई नही किया था। 

तब शिव सिंह एडवोकेट एवं विश्वनाथ पटेल चोटीवाला ने ग्रीन ट्रिब्युनल के समक्ष सम्पूर्ण दस्तावेजों एवं गूगल मैप के आधार पर याचिका क्रमांक 104/2020 (सी.जेड) प्रस्तुत किया था। जिस पर नेशनल ग्रीन ट्रिव्युनल नई दिल्ली की प्रिन्सिपल बेंच ने गत 9मार्च को सुनवाई कर यह आदेश पारित किया कि जिला मजिस्ट्रेट कार्रवाई करते हुए तालाब के स्वरूप को पुर्नस्थापित करवाकर जल संरक्षण करावें, साथ ही राज्यों के मुख्य सचिवों को भी आदेशित किया गया कि जल संरक्षण के लिए जल भराव क्षेत्रों में नोडल अधिकारी नियुक्त करके सतत निगरानी के साथ जल भराव क्षेत्रों में जल भराव कराने की कार्रवाई करें।

Powered by Blogger.