MP : शिवराज सरकार की बड़ी घोषणा : तीन महीने तक गरीबों को मिलेगा फ्री राशन तो ,भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में बनेंगे 2000 बिस्तर के कोविड अस्पताल

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

कोरोना पर शिवराज सरकार ने सोमवार को बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 4 बडे़े शहरों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में 2,000 बेड के कोविड अस्पताल खोले जाएंगे। इसमें स्वयंसेवी संस्थाओं से मदद ली जाएगी। मुख्यमंत्री ने इंदौर के मौजूदा अस्पतालों में भी बेड की संख्या 4,000 से बढ़ाकर 6,000 करने का निर्देश दिया है।

प्रदेश सरकार ने गरीबों (बीपीएल कार्ड धारकों) को 3 महीने तक फ्री राशन देने का भी फैसला किया है। CM शिवराज सिंह चौहान ने यह निर्णय सोमवार को प्रदेश के कलेक्टरों के साथ बैठक में लिया।

आर्मी के अस्पतालों में मिलेंगे 430 बेड

प्रदेश में आर्मी और केंद्रीय संस्थानों के अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों का इलाज होगा। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बात की। इसके बाद सीएम ने सुदर्शन कोर कमांडर अतुल्य सोलंकी और बिग्रेडियर आशुतोष शुक्ला के साथ बैठक की।

सूत्रों के मुताबिक आर्मी भोपाल, जबलपुर, सागर और ग्वालियर में अपने अस्पतालों में 430 बेड कोरोना मरीजों के लिए देने को तैयार है। इनमें से भोपाल में 150, जबलपुर में 100, सागर में 40 और ग्वालियर में 40 बेड की व्यवस्था की जाएगी। आर्मी इसके लिए अपना पैरामेडिकल स्टाफ भी उपलब्ध कराएगी।

नए संक्रमितों का आंकड़ा 13,000 के करीब पहुंचा

प्रदेश में 24 घंटे में कोरोना के 12,897 नए केस आए हैं, जबकि रिकाॅर्ड 79 मौतें हुई हैं। राजधानी भोपाल में रविवार को सबसे ज्यादा 1,703 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 5 संक्रमितों की मौत हो गई। जबलपुर में एक मरीज 4 घंटे तक बेड का इंतजार करता रहा, उसने अस्पताल के बाहर एंबुलेंस में ही दम तोड़ दिया।

पूरे प्रदेश की बात करें तो 24 घंटे में 4 बड़े शहरों में 5,435 नए केस आए। इंदौर में 1,698, जबलपुर में 877 और ग्वालियर में 1,157 नए मरीज मिले। प्रदेश में सबसे ज्यादा 9 मौतें ग्वालियर में हुईं। यहां पॉजिटिविटी रेट भी 43% को पार कर गया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से कोविड प्रोटकॉल का पालन करने और 30 अप्रैल तक घरों में ही रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि मास्क कफन से छोटा होता है। इसे पहनिए।

इंदौर: एक्टिव केस 11,000, बेड कम पड़े

इंदौर में रविवार को 7 की मौत हो गई। एक्टिव केस 11,804 पर पहुंच गए हैं। अस्पतालों में मरीजों को बेड नहीं मिल पा रहे हैं। हालांकि, भिलाई और जामनगर से ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू होने से थोड़ी राहत मिली है। छोटे अस्पतालों में अभी भी ऑक्सीजन की किल्लत है।

भोपाल: रेमडेसिविर की कालाबाजारी तेज

भोपाल में रविवार को 5 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। राहत की बात है कि 1,457 मरीज ठीक भी हुए। यहां एक हफ्ते में 10,310 लाेग संक्रमित हुए हैं, जबकि इंदौर में यह संख्या 10,029 रही। यही वजह है कि भोपाल और इंदौर देश के सबसे ज्यादा संक्रमित 10 जिलों में शामिल हैं। भोपाल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी तेज हो गई है। पुलिस ने रविवार को 2-3 जगहों पर छापा मारकर रेमडेसिविर इंजेक्शन जब्त किए हैं।

जबलपुर: विक्टोरिया अस्पताल में 15 ने दम तोड़ा

विक्टोरिया अस्पताल में पिछले 18 घंटों में 15 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। इनमें रविवार को 8 लोगों की जान गई। चौहानी, तिलवारा शमशान घाट व ग्रेव यार्ड में 72 लाशों का कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार हुआ। इनमें 22 साल का युवक शामिल है। युुवक के परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन सप्लाई से प्रेशर कम मिल रहा था।

सुनो सरकार! ये घोषणा है कि अमल भी होगा?:प्रदेश के 37 जिलों में लगेंगे ऑक्सीजन के प्लांट; पिछले साल अक्टूबर में 9 जिलों के लिए जारी हुआ था टेंडर, 6 माह में एक भी नहीं लगा

मंडला से आकाशवाणी के पूर्व संवाददाता सलिल राय को जबलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था। उनके परिजन जब मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो 4 घंटे तक उन्हें वार्ड में शिफ्ट करने के लिए परेशान होते रहेे। कई अधिकारियों को फोन भी किया, लेकिन वो वार्ड में शिफ्ट नहीं हो पाए। उन्होंने एंबुलेंस में ही दम तोड़ दिया। अस्पतालों में ऑक्सीजन की भी की है। इसके चलते लोग ऑटो और स्कूटी पर खुद ही सिलेंडर ढोकर अस्पताल ले जा रहे हैं।

ग्वालियर- 3 दिन से लगातार 1 हजार के ऊपर नए मरीज

ग्वालियर में बीते तीन दिन में हर दिन एक हजार से ज्यादा नए संक्रमित निकले हैं। रविवार को 2 हजार 649 सैंपल की रिपोर्ट में 1 हजार 157 नए कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। एक दिन में अभी तक के सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। 17 संक्रमित की मौत भी हुई है। इनमें से 9 ग्वालियर के हैं। बाकी अन्य जिलों के हैं।

Powered by Blogger.