MP : बीमार मां को बीच रास्ते छोड़ जाने की अमानवीयता : माँ का कोरोना टेस्ट कराने जा रहे बेटे को गाड़ी में भरकर थाने ले गई पुलिस : फिर ...

भोपाल में एक युवक को पुलिसिया संवेदनहीनता का सामना करना पड़ा। अपनी मां का कोरोना टेस्ट कराने जा रहे युवक को पुलिसवालों ने जबरिया डायल 100 में ठूंसा और थाने ले गए। उसकी बीमार मां को बीच रास्ते छोड़ जाने की अमानवीयता भी दिखाई। मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस अब अपनी सफाई देती नजर आ रही है।

जानकारी के मुताबिक मामला कोलार थाना क्षेत्र के अनुपम तिराहे का बताया जा रहा है। पुलिस द्वारा लॉकडाउन का पालन कराने के चलते यहां बैरिकेडिंग कर रखी थी। इस बीच अपनी मां की कोरोना जांच कराने जा रहे एक युवक को पुलिस द्वारा रोक लिया गया। युवक द्वारा निवेदन करने पर भी उसको रास्ता नहीं दिया गया, जिससे पुलिस और युवक के बीच कहासुनी हो गई।

मामला इतना बढ़ा कि मौके पर पुलिस जवानों ने युवक को जबरिया डायल 100 में बैठाने की जिद कर ली। इस बीच युवक की मां लगातार पुलिस जवानों की मिन्नतें करती रही, लेकिन युवक को किसी गुंडे-बदमाश की तरह वहां में ठूंसकर उसकी मां को सड़क पर ही अकेले छोड़ दिया गया।

मामला बिगड़ा तो दी सफाई

मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर पुलिस को अपनी गलती का अहसास हुआ। उसने अपने जनसंपर्क के सहारे सोशल मीडिया पर आनन-फानन में सफाई देने के अंदाज में पोस्ट शेयर कर दी। इस पोस्ट में पुलिस द्वारा कहा गया है कि जब पता चला कि युवक अपनी मां के टेस्ट के लिए जा रहा था, तो उसे बिना कार्रवाई के छोड़ दिया गया है।

कोलार थाना प्रभारी चंद्रभान पटेल ने बताया कि लॉकडाउन के चलते बैरिकेडिंग की गई है। युवक ने ये बात बाद में बताई कि वह अपनी माता का टेस्ट करवाने जा रहा था। दोनों को बिना कार्रवाई के छोड़ दिया गया है।

Powered by Blogger.