MP : रीवा में दिखा लॉकडाउन का असर; सडकों पर पसरा सन्नाटा, जगह जगह पुलिस अलर्ट; बेवजह घूमने वालों के कटे चालान

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। दमोह को छोड़कर पूरे प्रदेश में 60 घंटे का लॉकडाउन शुरू हो गया है। शुक्रवार शाम से शुरू सख्ती शनिवार को भी नजर आ रही है। पूरा शहर शांत है, दुकानों के शटर गिरे हुए हैं। कहीं कोई शोर नहीं सुनाई नहीं दे रहा है। हां सुबह जरूर कुछ लोग मॉर्निंग वॉक पर निकले, लेकिन हाथों में सैनिटाइजर और मास्क लगा हुआ था। सुबह लोगों ने जल्दी अपने काम निपटा लिए और फिर अपने घरों पर बैठ गए। पुलिस भी चौराहों के साथ ही शहरभर में घूम-घूमकर लोगों को बेवजह घूमने से मना कर रही है। हां वैक्सीनेशन करवाने जाने वाले और जरूरी काम वालों के लिए कोई रोक टोक नहीं है। उधर पुलिस ने स्पष्ट कर दिया है कि लॉकडाउन में बेवजह तफरी करने वालों की पुलिसिया अंदाज में खातिरदारी की जाएगी।

शिल्पी प्लाजा की सभी दुकानें बंद 

रीवा कलेक्टर का सख्त आदेश

कोरोना पॉजिटिव व्‍यक्ति घर से बाहर निकलता है अथवा उसके परिवार का कोई सदस्‍य बाहर घूमता है तो उसके विरूद्ध धारा 188 तथा कोविड नियंत्रण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही करें। कोरोना पोस्‍टर फाड़ने वाले व्‍यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करायें। इस तरह के किसी भी व्यक्ति की सूचना फोन पर अथवा व्हाट्सएप के माध्यम से दी जा सकती है. 


रीवा में जगह जगह पुलिस कर रही मॉनिटरिंग 

वही रीवा एसपी का चला डंडा 

कोविड नियमो का पालन किए बिना संचालित हो रही बस को ट्रैफिक डीएसपी मनोज वर्मा और उनकी टीम ने पकड़ा अग्रिम कर्यवाई के लिए सिविल लाइन पुलिस के किया हवाले 31 सवारियों की मंजूरी बस में मिले 72 यात्री। 

बिना मास्क व बिना जरूरी काम घरों से बाहर घूमने वालों का पुलिस ने कराया चालान

पुलिस लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने का लगातार निर्देश दे रही है। वहीं थाना विश्वविद्यालय पुलिस-प्रशासन लगातार लोगों से अपील कर रही है कि वो लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करें। 

लोगों की थोड़ी सी भी लापरवाही जिले को संकट में डाल सकती है। लेकिन कई लोग शनिवार को भी बिना मास्क व बिना जरूरी काम घरों से बाहर घूमने निकल आए। ऐसे लोगाें को पुलिस की सख्ती का शिकार होना पड़ा और बीच सड़क  फटकार के साथ-साथ चलानी कार्यवाही भी करनी पड़ी। जरूरत पड़ने पर  पुलिस द्वारा  निर्देशों का पालन न करने वाले असामाजिक लोगों को थाने में बैठाया भी जा रहा है पुलिस लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने का लगातार निर्देश दे रही है।


रीवा सिरमौर चोराहे पर कटे चालान 

इंदौर, डीआईजी कपूरिया ने कहा कि यह गंभीर बीमारी का समय है। तेजी से संक्रमण फैल रहा है। ऐसे में जनता को भी अपनी जिम्मेदारी समझकर घरों में ही रहना चाहिए। जरूरी, इमरजेंसी सेवाओं के लिए निकलने वालों पर पुलिस कारण जानने के बाद सख्ती नहीं करेगी, लेकिन बेवजह तफरी करने वाले लोगों को पुलिसिया अंदाज में खातीरदारी की जाएगी। एसपी पश्चिम महेशचंद जैन ने इलाके के सभी थाना प्रभारियों को क्षेत्र में मूवमेंट के लिए अलर्ट कर दिया है। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि कई लोग लॉकडाउन के बाद भी बेवजह बाहर घूमते हैं। यदि ऐसे लोग सामने आए तो उनकी सड़क पर ही खातीरदारी करें।


विजय नगर क्षेत्र में पुलिस ने घूमकर क्षेत्र के हालात का जायजा लिया।

आदेश इंदौर शहरी सीमा के साथ ही राउ, महू, मानपुर, सांवेर, हातोद, देपालपुर, गौतमपुरा व बेटमा नगरीय क्षेत्रों में भी लागू है। कलेक्टर ने साफ कर दिया है कि लॉकडाउन संबंधी आदेश में शासन ने शादियों को अलग से छूट नहीं दी है, इसलिए प्रशासन द्वारा इसमें कोई मंजूरी जारी नहीं की गई है। वहीं, लॉकडाउन के दौरान अनिवार्य सेवा, राशन दुकान, दवा दुकान,, पेट्रोल पंप, एटीएम, बैंक, दूध व फल व सब्जी की दुकानें चालू हैं। औद्योगिक गतिविधियों को पूरी छूट है, यहां से माल का और श्रमिक आदि का आना-जाना रहेगा। परीक्षा हो सकेंगी, टीकाकरण के लिए जाना मंजूर होगा, यात्री भी आ जा सकेंगे।
         
              मेन मार्केट की सभी दुकानों पर शटर गिरे हुए हैं।

Powered by Blogger.