SATNA : आज शाम से 26 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन : जिले में एक्टिव केस की संख्या हुई 644 तो 309 नए मामले आए सामने

सतना जिले में छह सैकड़ा से ऊपर पहुंच चुके कोरोना पॉजिटिव मामलों को देखते हुए जिला आपदा प्रबंधन समिति ने कोरोना कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। बैठक में 16 अप्रैल की शाम 6 बजे से 26 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन (कोरोना कर्फ्यू) पर स​हमति बन गई है। मतलब ये लॉकडाउन 9 दिन का रहेगा। जिसमे आने वाला शनिवार और रविवार राज्य सरकार के आदेश पर कोरोना बंदी रहेगी। वहीं सोमवार से लेकर शुक्रवार तक आपदा प्रबंध समिति के आधार पर कोरोना कर्फ्यू रहेगा। इसके आद पुन: राज्य सरकार का शनिवार और रविवार लॉकडाउन रहेगा। जिला प्रशासन की मानें तो आगे का निर्णय प्रथक से जारी किए जाएंगे।

आपदा प्रबंधन समिति ने प्रस्ताव रखा कि बीते दो दिन के अंदर 500 से ज्यादा पॉ​जिटिव आए है। जिसमे बुधवार को 242 तो गुरुवार को 309 नए केस मिले है। ऐसे में जिले में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 644 पहुंच चुकी है। अभी तक कुल पॉजिटिव 4512 तो स्वस्थ्य होकर घर लौटने वालों की संख्या 3947 है। जिलेभर में अब तक 110 से ज्यादा मौते हो चुकी है। बीते दिन बुधवार को चार मरीजों ने कोरोना के संक्रमण से दम तोड़ा है। ऐसे में आने वाले दिनों में बिकट स्थितियां बन सकती है। सिर्फ लॉकडाउन से ही चैन टूट सकती है। जिसको प्रभारी मंत्री ने सहमति देते हुए राज्य सरकार को अवगत कराया है।

ये हुआ बैठक में निर्णय

राज्य शासन द्वारा नियुक्त कोविड नियंत्रण के लिए सतना जिले के प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल की अध्यक्षता में बैठक संपन्न हुई। जिसमें जिले के जनप्रतिनिधि, समाजसेवी संगठन, व्यापारिक संगठन, विभिन्न वर्ग के प्रतिनिधि, अधिकारियों की संयुक्त बैठक हुई। यहां पर शुक्रवार 16 अप्रैल की शाम 6 बजे से 26 अप्रैल की प्रातः 6 बजे तक अति आवश्यक गतिविधियों में छूट के साथ कोरोना कर्फ्यू पर सहमति बनी। प्रभारी मंत्री ने कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए मास्क, सैनिटाइजर उपयोग करने की सलाह दी। इस मौके पर सांसद गणेश सिंह, विधायक नागेंद्र सिंह, नारायण त्रिपाठी, सिद्धार्थ कुशवाहा, पूर्व विधायक शंकरलाल तिवारी, सुरेंद्र सिंह गहरवार, राजनीतिक दलों के प्रमुख नरेंद्र त्रिपाठी, दिलीप मिश्रा, राजेश दुबे, योगेश ताम्रकार, एसपी धर्मवीर सिंह, आयुक्त नगर निगम तन्वी हुड्डा, सीईओ जिला पंचायत हरेंद्र नारायण भी उपस्थित रहे।

बाहर से आने वालों की प्रॉपर स्क्रीनिंग कराई जाए

प्रभारी मंत्री ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों की प्रॉपर तरीके से स्क्रीनिंग कराई जाए। संदिग्ध मिलने पर क्वारंटाइन करने की व्यवस्था करें। शादी-ब्याह में शासन की गाइडलाइन का पालन करें। सांसद गणेश सिंह ने कहा कि पूरे देश के साथ यह समय हमारे जिले के लिए भी संकट का समय है। सुविधाएं और साधन भी सीमित हैं। संकट के समय इनका दक्षतापूर्वक उपयोग करें और इनके विस्तार की दिशा में निरंतर प्रयास किए जाएं। अभी जिले में शहरी क्षेत्र संक्रमित है, यह संक्रमण गांव तक नहीं पहुंचे, इसके लिए चैन को तोड़ने सभी का सहयोग जरूरी है। उन्होंने बैठक में जिले के सभी दलों, संगठनों को भरपूर सहयोग देने पर आभार व्यक्त किया।

ऐसी है बेड की व्यवस्था

कलेक्टर अजय कटेसरिया ने बताया कि जिला अस्पताल में 120 बेड तैयार हैं। जिसमें 60 क्रिटिकल पॉजिटिव रोगी और 55 पोस्ट कोविड मरीज भर्ती हैं। ट्रामा सेंटर में 70 बेड हैं। ऑर्थोपेडिक सहित तीन वार्डों के 30-30 बेड मिलाकर टीवी वार्ड सहित 110 बेड और तैयार किए गए हैं। जीएनएम में 96 बेड तैयार किए गए हैं। वहीं मैहर, रामनगर, मझगवां, अमरपाटन में ऑक्सीजन फैसिलिटी युक्त 80 बेड स्वीकृत हुए हैं। उचेहरा और नागौद में ट्रांसिट फैसिलिटी रखी गई है। प्राइवेट अस्पतालों में बिरला में 22 बेड, सार्थक में 20 बेड, श्रीजी कान्हा में 14 बेड, आयुष्मान हॉस्पिटल में 14 बेड और पाठक हास्पिटल में 8 बेड चालू हो गए हैं। होम आइसोलेशन के पॉजीटिव मरीजों को परामर्श के लिए कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर के 1075 कॉल नंबर से सुविधा दी जा रही है।

Powered by Blogger.