MP : मेडिकल स्टोर के कर्मचारी और उसके दोस्त रेमडेसिविर इंजेक्शन का 30 हजार में सौदा करते गिरफ्तार

इंदौर। भोलाराम उस्ताद मार्ग स्थित मेडिकल स्टोर के कर्मचारी और उसके दोस्त को रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते हुए पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों 30 हजार में इंजेकेशन बेचने का सौदा कर रहे थे। पकड़ाए आरोपी 23 वर्षीय मनोज सोनी निवासी गिरधर कॉलोनी और 21 वर्षीय मेडिकल दुकान का कर्मचारी गणेश बिरला निवासी सनावद है।

युवक ने पहले मेडिकल स्टोर के कर्मचारी के दोस्त को पकड़ा और उसने पूरी लिंक बताई है। वह तो दावा कर रहा था कि 12 घंटे पहले सूचना देने पर वह 10 से ज्यादा इंजेक्शन उपलब्ध करवा सकता है। फिलहाल दोनों से पूछताछ की जा रही है।

लक्ष्मी मेमोरियल अस्पातल का कर्मचारी फरार

उधर, कनाड़िया पुलिस ने नोबल अस्पताल के जिस ओटी टैक्निशियन पंकज राव को पकड़ा था उसने लक्ष्मी मेमोरियल अस्पताल के ओटी टैक्निशियन कपिल का नाम कबूला था। पुलिस ने उसके लिए अस्पताल में दबिश दी, लेकिन वह लापता हो गया है।

सोशल मीडिया पर चला रहे थे मोबाइल नंबर

मनोज का नंबर सोशल मीडिया पर आठ दिन से चल रहा था, जिसमें वह रेमडेसिविर दिलाने का दावा कर रहा था। एक युवक ने उसे संपर्क किया। पहले तो मनोज ने मना किया, लेकिन दूसरी बार में हामी भर दी। उसने इंजेक्शन 30 हजार में बेचने का सौदा कर लिया। जैसे ही मनोज भंवरकुआं चौराहे पर इंजेक्शन बेचने आया तो युवक ने दबोचा। फिर थाने ले गए।

Powered by Blogger.