MP : अब 15 अप्रैल से शहर में नहीं खुलेंगे किराना स्टोर्स, होम डिलेवरी ही कर पाएंगे, फल-सब्जी मंडी एक घंटे पहले बंद होंगे


जबलपुर। जिले में मंगलवार को कोरोना ने 600 का आंकड़ा पार करते हुए 602 पर पहुंच गया। इसी के साथ जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 23 हजार से ऊपर पहुंच गई। अप्रैल में कोरोना नियंत्रण से बाहर हो चुका है। अब इसी के साथ पाबंदियों भी बढ़ा दी गई है। कलेक्टर के आदेशानुसान 15 अप्रैल से शहरी क्षेत्रों में खुल रही किराना की दुकानों को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। किराना दुकानों से सिर्फ होम डिलेवरी ही हो पाएगी।

जानकारी के अनुसार जिले में मंगलवार को 602 नए संक्रमितों के सामने आने के बाद कुल आंकड़ा 23 हजार 569 हो गई है। वहीं कोरोना से 306 लोग स्वस्थ हुए। अब कोरोना से ठीक होने वाले कुल मरीजों की संख्या 20 हजार 09 हो गई है। रिकवरी रेट 84.98 पर आ गया है। वहीं पांच लोगों की मौत के बाद सरकारी आंकड़े में कुल मौत 297 हो गई है। वहीं जिले में एक्टिव केस 3549 हो गई है।

कोरोना के बढ़ते मामले के बाद प्रतिबंधात्मक आदेश में किया संशोधन
कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने कोरोना के बढ़ते मामले और छह घंटे की दी जा रही ढील के दौरान भीड़ को देखते हुए प्रतिबंधों में आंशिक संशोधन आदेश जारी किया। अब जिले में 15 अप्रैल से शहरी क्षेत्र में एक भी राशन की दुकान नहीं खुलेगी। किराना दुकानों को होम डिलेवरी की सुविधा का विकल्प दिया गया है।

वहीं सब्जी मंडी व फल की दुकानों को भी अब सुबह चार से सुबह आठ बजे तक ही खोलने की अनुमति रहेगी। पहले ये टाइम नौ बजे की थी। मंडी में सिर्फ होलसेलर और हाथ ठेला वाले ही सब्जी-फल खरीद पाएंगे। आम लोगों को सब्जी लेने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। सुबह आठ बजे के बाद सब्जी व फल के ठेला फेरी लगाकर घर-घर बेच सकेंगे।
Powered by Blogger.