रीवा के सुपर स्पेशिलिटी हाॅस्पिटल में दो दिन में 89 लाख की लागत से ऑक्सीजन प्लांट तैयार, 500 रोगियों को दी जा रही ऑक्सीजन सप्लाई

रीवा। कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रीवा के इंजीनियरों व अधिकारियों के जुनून से 50 घंटे में सुपर स्पेशियलिटी में ऑक्सीजन प्लांट तैयार कर लिया गया है। यहां अभी रोजाना 100 सिलेंडर भरे जा रहे हैं। वहीं, भविष्य की कार्य योजना को देखते हुए रीवा जिला प्राणवायु को लेकर आत्मनिर्भर हो गया है। शहर में प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा रि​फलिंग का लक्ष्य है।

कुछ दिनों बाद 700 सिलेंडर ही रिफिल होने लगेंगे। बता दें, रीवा जिले में 50 किलो लीटर तरल ऑक्सीजन भंडारित है। अन्य राज्यों से मेडिकल ऑक्सीजन के टैंकर प्राप्त करने के साथ-साथ ऑक्सीजन प्लांट लगाने की कार्य योजना चालू हो गई है। वहीं, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से लगाकर ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था हो रही है।

विधायक निधि से खरीदे 170 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया, जिले में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। आठों विधायकों की पहल से 170 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें खरीदी गईं। इनमें से 70 मशीनें स्थापित हो चुकी हैं। जहां से 140 रोगियों को पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त हो रही है। शेष 100 मशीनें भी दो-तीन दिनों में स्थापित हो जाएंगी।

इनसे जिले में 200 ऑक्सीजन आपूर्ति बिस्तरों की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। वहीं, 52 ऑक्सीजन युक्त बेड 12 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तैयार किए गए हैं। हालांकि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए कई स्तरों पर प्रयास किए किए। बोकारो से लगातार तरल ऑक्सीजन के टैंकर प्राप्त हो रहे हैं। इनसे संजय गांधी हाॅस्पिटल और मेडिकल काॅलेज के बड़े टैंकों में ऑक्सीजन भंडारित की जाती है।

500 रोगियों को दी जा रही ऑक्सीजन सप्लाई

वर्तमान समय में 500 रोगियों को ऑक्सीजन सप्लाई दी जा रही है। इसकी आपूर्ति लिक्विड ऑक्सीजन और सिलेंडर के माध्यम से की जा रही है। रीवा को सिंगरौली प्लांट से भी ऑक्सीजन सिलेंडर मिल रहे हैं। दो दिन पूर्व प्लांट में तकनीकी खराबी आ गई थी। यह प्लांट 29 अप्रैल को पुन: चालू हो गया। सतना और कटनी जिले से भी ऑक्सीजन के सिलेंडर प्राप्त हो रहे हैं। अस्पतालों में कभी भी ऑक्सीजन की कमी नहीं रही है।

आत्मनिर्भर हुआ सुपर स्पेशिलिटी हाॅस्पिटल

सुपर स्पेशिलिटी हाॅस्पिटल आक्सीजन को लेकर आत्मनिर्भर हो गया है। यहां दो दिन में 89 लाख की लागत से ऑक्सीजन प्लांट तैयार कर लिया गया है। यहां से रोजाना 100 सिलेंडर ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी। प्लांट 29 अप्रैल से चालू हो गया है। चिकित्सकों ने बताया, इसकी मदद से सीधे बेडों तक ऑक्सीजन सप्लाई दी जाएगी। साथ ही, प्लांट शुरू हो जाने से यहां खपत होने वाली ऑक्सीजन की बचत होगी।

बिछिया जिला अस्पताल में 50 सिलेंडर का लग रहा प्लांट

बिछिया स्थित कुशाभाउ ठाकरे जिला चिकित्सालय में भी 50 सिलेंडर प्रतिदिन ऑक्सीजन भरने का प्लांट स्थापित किया जा रहा है। इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र में बड़े ऑक्सीजन प्लांट को भी स्थापित किया जा रहा है। वहीं, दो निजी अस्पतालों विंध्या हॉस्पिटल और रीवा हाॅस्पिटल में भी एक सप्ताह में ऑक्सीजन सिलेंडर भरने के प्लांट लग जाएंगे।

Powered by Blogger.