MP : पुलिसवालो की मदद से बची मरीजों की जान, ऑक्सीजन खत्म होने के बाद दो निजी अस्पतालों में मचा था हड़कंप


ऑक्सीजन की भरपूर आवक के बावजूद संकट बना हुआ है। अस्पतालों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं मिल पा रहा। ऑक्सीजन की कमी से एक बार फिर मरीजों की जान पर बन आई। वो तो भला हो पुलिस वालों को, सूचना मिलते ही सक्रिय हो गए और आनन-फानन में दोनों ही अस्पतालों में सिलेंडर की वैकल्पिक व्यवस्था कराई।

जानकारी के अनुसार धनवंतरी नगर स्थित आरोग्यम अस्पताल में कोविड के सात मरीज भर्ती हैं। इसमें तीन हाई फ्लो ऑक्सीजन सप्लाई में है। संजीवनी नगर पुलिस को कल अस्पताल में सिलेंडर लाने वाले वाहन से पता चला कि वहां महज दो-ढाई घंटे का ही ऑक्सीजन बचा है। संजीवनी नगर पुलिस हरकत में आ गई। तत्काल नायब तहसीलदार संदीप कुमार जायसवाल को सूचना दी गई। चेक कराया गया, तो पता चला कि वहां तो महज आधे घंटे का ही ऑक्सीजन ही बचा है।

7 मरीजों में तीन की हालत बिगड़ने लगी थी

अस्पताल में भर्ती 7 में तीन संक्रमित हाई ऑक्सीजन फ्लेम पर थे। तीनों की हालत बिगड़ने लगी। आरोग्यम अस्पताल को ऑक्सीजन सप्लाई करने वाले वेंडर श्रीराम इंटरप्राइजेज का ड्राइवर लाइट आदित्य ऑक्सीजन प्लांट में ऑक्सीजन सिलेंडर लेने पहुंचा था। उससे पता किया, तो बताया गया कि वहां दो से तीन घंटे लगेंगे। नायब तहसीलदार अस्पताल पहुंचे। वहां से पुलिस की मदद से धनवंतरी नगर स्थित महावीर अस्पताल से ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया गया। तब जाकर मरीजों की जान बच पाई।

न्यूलाइफ हॉस्पिटल में भी खत्म हो गया था ऑक्सीजन

चंडालभाटा के सामने स्थित न्यू लाइफ ट्रामा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन बुधवार रात समाप्त हो गया था। सूचना मिलते ही एसआई शैलेंद्र सिंह और टीम सक्रिय हो गई। पुलिस वालों ने जल्दी से मेट्रो हॉस्पिटल से चार सिलेंडर पहुंचाया और टूट रही सांसों को नई संजीवनी दे दी। पुलिस वाले खुद सिलेंडर लेकर मेट्रो से न्यू लाइफ हाॅस्पिटल पहुंचाया।

पशुपालन विभाग का टैंकर पहुंचा ऑक्सीजन लेकर

पशुपालन एवं डेयरी विकास मंत्री प्रेम सिंह पटेल के मुताबिक विभाग ने तीन टैंकर उड़ीसा से ऑक्सीजन लेकर स्पेशल वाहन से छतरपुर, जबलपुर और सागर के लिए रवाना हुए। गुरुवार सुबह 6,721 लीटर ऑक्सीजन लेकर एक टैंकर जबलपुर पहुंचा। इसी तरह, बुधवार रात 2 बजे एक्सप्रेस ट्रेन के माध्यम से बोकारो से जबलपुर ऑक्सीजन लाई गई।

चॉपर लेकर पहुंचा 152 बॉक्स रेमडेसिविर

एसडीएम आशीष पांडे ने बताया, माइलन कंपनी नागपुर से चॉपर द्वारा 152 बॉक्स लेकर जबलपुर पहुंचा। एसडीएम आशीष पांडे खुद नागपुर गए हैं। इसमें 46 बॉक्स जबलपुर के लिए हैं। एक बॉक्स में 48 इंजेक्शन है। वहीं, रेडक्रास के सचिव ने अनुपयोगी ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर मुहैया कराने की आम लोगों से अपील की है। इसके लिए रेडक्राॅस के मोबाइल नंबर 9425384868, 9425386037 या 7974160420 पर संपर्क कर सकते हैं।

Powered by Blogger.